आयुश्मान भारत योजना में अपेक्षित प्रगति न होने से नाराज़ आयुक्त ने दिए सख्त निर्देश


गोण्डा।


आयुक्त देवीपाटन मण्डल महेन्द्र कुमार ने आयुक्त सभागार में स्वास्थ्य विभाग की मण्डलीय समीक्षा बैठक में आयुश्मान भारत योजना के अन्तर्गत मण्डल में अपेक्षित प्रगति न होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया है कि योजनान्तर्गत गोल्डेन कार्ड बनाने वालों को प्रेरित कर इसमें अपेक्षित प्रगति लाई जाय ताकि योजना में मण्डल की रैंकिंग ठीक रहे। उन्होंने कहा कि आशाओं के माध्यम से भी लाभार्थियों का चयन कर मण्डल में लाभार्थियों का कार्ड बनवाए जाने का लक्ष्य पूरा कराया जाए। इसके साथ ही साथ विशेश ध्यान देकर प्राइवेट सेक्टर के ऐसे अस्पताल जो योजना के मानक पूरे करते हों, उन्हें भी योजना में पंजीकृत कर योजना में प्रगति लाई जाय। उन्होंने बहराइच में आयुश्मान भारत योजना के अन्तर्गत कम प्रगति पर दूरभाश पर जिलाधिकारी से सीधे वार्ता कर अपेक्षित प्रगति लाए जाने के निर्देश दिए। आयुक्त ने आयुश्मान भारत योजना के सम्बन्ध में कहा कि यह योजना गरीबों के लिए अति महत्वपूर्ण योजना हैं। इसमें अधिकाधिक पात्र लोगों को लाभान्वित कराने हेतु प्रत्येक स्तर पर प्रयास किया जाए।
आयुक्त ने मुख्य चिकित्साधिकारी श्रावस्ती द्वारा बैठक में उपस्थित न होने पर जिलाधिकारी श्रावस्ती से फोन पर वार्ता कर उनके विरूद्ध  कार्यवाई करने के निर्देश दिए हैं। बैठक में आयुक्त ने आइजीआरएस, सीएम हेल्प लाइन, अस्पतालों में चिकित्सकों व दवाओं की उपलब्धता, एम्बुलेन्स सेवाओं, जननी सुरक्षा योजना, टीकाकरण, वेक्टर जनित रोगों तथा राश्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की विभिन्न योजनाओं की प्रगति की गहन समीक्षा की।
बैठक में एम्बुलेन्स सेवाओं की समीक्षा के दौरान बलरामपुर बहराइच व श्रावस्ती में एम्बुलेन्स सेवाओं के रिस्पान्स टाइम अधिक होने के दृश्टिगत आयुक्त ने निर्देशित किया कि ये जनपद एम्बुलेन्स का रिस्पान्स टाइम कम से कम करें। उन्होंने चिकित्सकों की अस्पतालों में उपस्थिति की जांच हेतु सभी मुख्य चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे अनवरत अपने निरीक्षणों से यह सुनिश्चित करें कि डॉक्टर अपनी-अपनी ड््यूटी पर उपलब्ध रहें। उन्होंने सभी मुख्य चिकित्साधिकारियों  से कहा कि अपने निरीक्षणों की संख्या से उन्हें अवगत कराएं। टीकाकरण की प्रगति की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि अस्पतालों में वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित हो और टीकाकरण के निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप प्रगति सुनिश्चित की जाय। उन्होंने सभी मुख्य चिकित्साधिकारियों से अपेक्षा की है कि वे इस बात पर भी सतर्क दृश्टि रखें कि मरीजों को अनवाश्यक रेफर न किया जाय।
बैठक में अपर निदेशक स्वास्थ्य देवीपाटन मण्डल डा0 सतीश कुमार, सीएमओ गोण्डा डा0 मधु गैरोला सहित बलरामपुर के सीएमओ तथा आयुश्मान भारत योजना एवं राश्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अधिकारीगण उपस्थित रहे।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले

’’पवन गुरू, पानी पिता, माता धरति महत’’ को अपने जीवन का अंग बनायें : स्वामी चिदानन्द सरस्वती