अब्दुल कलाम को साइंस में महारत हासिल थी: प्रो0 जमानी


डा0 कलाम साइंस की दुनिया के एक कबीर थे: प्रो0 नय्यर
लखनऊ।


अहबाब फाउएडेशन एवं लखनऊ विश्वविद्यालय के उर्दू विभाग के संयुक्त तत्वावधान में डा0 ए.पी.जे अब्दुल कलाम के जन्मदिन के अवसर पर एक संगोष्टी का आयोजन उर्दू विभाग के मसूद हसन रिजवी हाल में हुआ। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि पदमश्री प्रो0 आसिफा जमानी, कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रो0 अब्बास रजा नय्यर उर्दू विभागाध्यक्ष ने की। विशिष्ठ अतिथि व वक्ताओं में मौलाना इकबाल अहमद आजमी मदनी, वैज्ञानिक हरमेश चैहान, डा0 असमत मलिहाबादी, डा0 तबस्सुम खान और डा0 अंजु सक्सेना उपस्थित थे।
पदमश्री आसिफा जमानी ने कहा कि मुझे पदमश्री सम्मान मुझे कलाम के करकमलों से ही मिला था, उनके चेहरे पर अजीब आकर्षण करने वाला तेज था, उनको साइंस में महारत हासिल थी।
अध्यक्षता करते हुए प्रो0 अब्बास रजा नय्यर ने कहा, कलाम साइंस की दुनिया के कबीर थे, वह सिर्फ मिसाइलमैन ही नहीं, एक सम्पूर्ण इन्सान थे, उनकी शायरी में प्रकृतिक की पूरी झलक देखने को मिलती है। उनको समाज और शिक्षा के कई क्षेत्रों पर वर्चस्व प्राप्त था।
मौलाना इकबाल अहमद आजमी मदनी ने कहा कि गरीब घर से सम्बन्ध रखते थे, लेकिन अपनी शिक्षा के बल पर मिसाइलमैन बने। कार्यक्रम के आयोजक मो0 खालिद आजमी ने कहा कि कलाम सहाब बिलकुल सादा विचारों और जमीन से जुड़े हुए व्यक्ति थे, देश को गर्व होना चाहिए कि इतना शिक्षित और प्रशिक्षित व्यक्ति देश का राष्ट्रपति बना।
वैज्ञानिक हरमेश चैहान ने कहा कि मेरा कलाम सहाब का थोड़ा बहुत साथ, वह बहुत ही सरल आदमी थे, कोई बनावत न थी। उन्हेंाने विज्ञान के क्षेत्र में जो काम किये है, वह हमेशा याद किये जायेंगे, मै उनको सलाम करता हूॅ।
स्वागत समिति के अध्यक्ष एस.एन.लाल ने कहा कि ऐसा विज्ञानिक जो इतने बड़े-बड़े पदों पर रहा, पदों पर रहते हुए भी सिर्फ देश के लिए जिया ऐसे लोग कम होते हैं। इसके अतिरिक्त डा0 असमत मलिहाबादी, डा0 तबस्सुम खान और डा0 अंजु सक्सेना ने भी कलाम साहब के बारे में अपने विचार रखे।
डा0 ए.पी.जे अब्दुल कलाम पर वि.वि.के छात्रों में पर्चा पढ़ने वालों में अब्दुल रहमान, मोहित और जितेन्द्र अजनबी भी शामिल थे। इस अवसर पर डा0 फाजिल हाशमी, डा0 जनिसार जलालपुरी, डा0 कमर इकबाल, डा0 इशरत मुर्ताजा सिदद्दीकी, डा0 यासिर जमाल, डा0 अली जफर, हिमायु चैधरी, शाहिद फलाही, नजमुल हसन, सतीश दीक्षित उपस्थित थे।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन