अर्थव्यवस्था को गतिशील और रोजगार परक बनाने के लिए 24 घंटे कर रही काम मोदी सरकार: जावडेकर

लखनऊ।

केन्द्रीय वन, पर्यावरण, सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने शनिवार को लखनऊ में कहा कि नरेन्द्र मोदी की सरकार अर्थव्यवस्था को गतिशील और रोजगार परक बनाने के लिए 24 घंटे काम कर रही है। रिजर्व बैंक ने रेपो रेट पर ब्याज दर घटाई है। यह एक महत्वपूर्ण कदम है। उन्होंने कहा कि सरकार ने बैंको को निर्देश दिये हैं कि सभी बैंक इसका सीधा फायदा उपभोक्ताओं तक पहुंचाये। लगातार 5वीं बार ब्याज दरे घटाई गई है।
भाजपा मुख्यालय में आयोजित पे्रसवार्ता में जावडेकर ने कहा कि मोदी सरकार में उच्च विकास दर और कम मुद्रास्फीति रही है। यानि कि मंहगाई कम। वहीं कांग्रेस सरकार में इसका ठीक उल्टा होता था। कांग्रेस सरकार में विकास दर नीचे और मुद्रास्फीति अधिक होने के कारण जनता मंहगाई से पीड़ित थी। भारत में पहले टैक्स की अधिक दरों, कई तरह के कानूनों की वजह से भारत में निवेश के लिए अधिक उद्योग नहीं आते थे। आज भारत ने कारपोरेट टैक्स को 22 फीसदी और नई कम्पनियों के लिये 15 फीसदी किया है। सुसंगत दरों के कारण और चीन में मंदी के कारण जो उद्योग वहां से हट रहे है। उन सबके लिए भारत एक आदर्श डेस्टिनेशन है।
जावडेकर ने कहा कि पर्यावरण मंत्रालय पहले विकास और उद्योगों को रोकने वाला मंत्रालय था। किसी भी प्रोजेक्ट को पहले जहां 640 दिन लगते थे मंजूरी मिलने में वहीं पर्यावरण के मापदण्डों को बिना शीथलीकरण आज वह 108 दिनों में स्वीकृति दी जा रही है। अधिक निवेश से रोजगार बढ़ंेगे, मेक इन इण्डिया बढ़ेगा। सरकार भी 100 लाख करोड़ का निवेश कर रही है। इससे देश की अर्थव्यवस्था में तेजी आयेगी, रोजगार बढ़ेगा। वाराणसी से कोलकाता तक जल मार्ग से यातायात शुरू हो गया है। इससे लागत घटेगी और पर्यावरण की रक्षा होगी। हमें विरासत में बैकों के एनपीए और बढ़ा हुआ कर्ज मिला था। चोरी करने वालों की धरपकड़ हो रही है। कांग्रेस ने पूंजीपतियों को ढेर सारा कर्ज दिया जो देश छोड़ कर चले गये। हमारी सरकार ने उन्हें विदेशों में पकड़ा और वहां उन्हें गिरफ्तार किया। जावडेकर ने कहा कि हमने पारदर्शिता बढ़ाई है। आज आप तेजस एक्सपे्रस और वंदे भारत एक्सप्रेस में कम समय पर यात्रा कर सकते हैं। राष्ट्रीय राजमार्गो की संख्या बढ़ाई है। तेजी से निर्माण हो रहा है। 2014 तक भारत में कोई आने को तैयार नहीं था, मोदी सरकार ने पिछले चार महीनों में व्यापार और रोजगार बढ़ाने और अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए 110 फैसलें किये हैं। जीएसटी लागू होने के निर्णय ने भी क्रांतिकारी परिवर्तन किया है। सभी राज्यों के साथ मिलकर सभी पर्टियों से विमर्श कर जीएसटी लागू किया गया था। हर महीने जीएसटी कौंसिल की बैठक की जाती है। सुसंगत टैक्स दरों के कारण जनता को काफी लाभ मिला है। व्यापार भी सुगम हुआ है।
जावडेकर ने कहा कि सरकार ने एक बड़ा कदम उठाते हुए 27 सार्वजनिक बैंको को विलयीकरण कर 12 बैक बनाये है। इससे क्रेडिट मॉनिटरिंग अच्छा होगा। बैंको के पास पूंजी बढ़ेगी। व्यापार और उद्योगों के लिए प्रचुर मात्रा में पंूजी उपलब्ध है।

Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले