अवैध प्रेस लिखे वाहन चालकों के खिलाफ होगी कार्यवाही

गोण्डा।


जिलाधिकारी/अध्यक्ष जिला स्तरीय स्थाई समिति डा0 नितिन बंसल की अध्यक्षता में जिला स्तर पर पत्रकारों व जिला प्रशासन के बीच सम्बन्धों को और सौहार्दपूर्ण बनाने के उद््देश्य से गठित जिला स्तरीय स्थाई समिति की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई। बैठक में पुलिस अधीक्षक राजकरन नैयर सहित समिति के सदस्य एवं विशेष आमंत्रित सदस्य उपस्थित रहे।
बैठक के प्रारम्भ में जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल ने कहा कि जिला स्तरीय स्थाई समिति की बैठक शासन के निर्देशानुसार नियमित रूप से आयोजित कराई जाय, जिससे मीडिया और प्रशासन के बीच में आपसी सौहार्द और समन्वय स्थापित होता रहे। सदस्य राजेश कुमार सोनी व अनुराग सिंह द्वारा जनपद में सूचना संकुल/प्रेस क्लब स्थापित किए जाने हेतु शीघ्र कार्यवाही किए जाने का प्रस्ताव रखा गया। जिस पर जिलाधिकारी द्वारा सूचना संकुल का ले-आउट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए गए। विशेष आमंत्रित सदस्य हरि सिंह बादल ने प्रस्ताव रखा कि जनपद में भारी संख्या में अवैध प्रेस लिखे वाहन चालकों के खिलाफ कार्यवाही की जाय। जिलाधिकारी द्वारा उपनिदेशक सूचना को निर्देशित किया कि प्रेस विज्ञाप्ति जारी कर यह सूचित कर दिया जाय कि ऐसे लोग जो पत्रकार नहीं हैं, जिन्होंने अपने वाहनों पर प्रेस/पत्रकार लिखवा रखा है, वे इसे स्वयं ही हटवा लें। जिलाधिकारी ने 15 अक्टूबर 2019 की समय सीमा निर्धारित करते हुए पुलिस अधीक्षक गोण्डा से यह अपेक्षा की कि निर्धारित समय सीमा के बाद प्रेस लिखे वाहनों की चेकिंग कराकर विधिक कार्यवाही कराएं। पुलिस अधीक्षक ने आश्वस्त किया कि 15 अक्टूबर के बाद प्रेस लिखे वाहनों की जांच कराई जाएगी। बैठक में समिति के सभी सदस्यों द्वारा अध्यक्ष/जिलाधिकारी से अनुरोध किया गया कि जनपद में ऐसे पत्रकारों की सूची बनाई जाए जो समाचार पत्र/चैनल से अधिकृत हों और उनके समाचारों का प्रकाशन/प्रसारण होता हो तथा जिनके सामचार पत्रों का जनपद में पर्याप्त प्रसार हो। इस पर समिति द्वारा निर्णय लिया गया कि सूचना विभाग द्वारा जिला स्तरीय स्थाई समिति के पत्रकार सदस्यों के सहयोग से एक वैध सूची बना ली जाए।
सदस्यों द्वारा सामूहिक रूप से टोल प्लाजा पर पत्रकारों के वाहनों को छूट दिए जाने की मांग की गई। जिस पर समिति के अध्यक्ष द्वारा उपनिदेशक सूचना को निर्देश दिए गए कि वे जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण, भारत सरकार व उत्तर प्रदेश सरकार को पत्र प्रेषित कराएं। सभी पत्रकार सदस्यों द्वारा समिति के समक्ष यह बात उठाई गई कि जनपद में पत्रकारिता क्षेत्र में कतिपय ऐसे लोग भी सक्रिय हैं जिनका पत्रकारिता से कोई लेना-देना नहीं हैं और उन्हें मीडिया संस्थान द्वारा अधिकृत भी नहीं किया गया हैं, उनके द्वारा पत्रकारिता के नाम पर शोषण/ब्लैकमेलिंग की स्थिति से वैध पत्रकारों की समाज में प्रतिष्ठा धूमिल होती है। इसे रोकने के लिए सभी स्तर पर प्रयास किया जाय।
बैठक में संयोजक सदस्य/उपनिदेशक सूचना डा0 राजेन्द्र यादव, पत्रकार सदस्य अनुराग सिंह, राजेश कुमार सोनी, कल्पराम त्रिपाठी तथा विशेष आमंत्रित सदस्य हरि सिंह बादल उपस्थित रहे।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले