एसओ सहित आधा दर्जन आरोपियों की बढ़ी मुश्किलें, विशेष अदालत ने किया तलब

पीड़ित को थाने में बिठाकर विपक्षियों से मिल जमीन कब्जा कराने का है आरोप
पद का दुरुपयोग करने वाले एसओ समेत अन्य पर कोर्ट ने लिया संज्ञान
सुल्तानपुर।


वर्दी का रौब झाड़ पीड़ित को थाने में बिठाने एवं विपक्षियों से सेटिंग-गेटिंग कर दलित की जमीन कब्जा कराने समेत अन्य आरोपों से जुड़े मामले में स्पेशल जज एससी-एसटी एक्ट की अदालत ने संज्ञान लिया है। सत्र न्यायाधीश उत्कर्ष चतुर्वेदी की अदालत ने तत्कालीन थानाध्यक्ष समेत छह आरोपियों को विचारण के लिए तलब किया है।
मामला लम्भुआ थाना क्षेत्र के जयपाल पुर गांव से जुड़ा है। जहां के रहने वाले राजमणि ने 14 मई 2016 की घटना बताते हुए स्पेशल जज एससी-एसटी एक्ट की अदालत में अर्जी दी। आरोप है कि गांव के ही आरोपीगण दान बहादुर, श्री नारायण, महेंद्र, धर्मेंद्र, रणजीत अन्य बदमाशों के साथ हथियारों से लैस होकर आये और उसकी जमीन को कब्जा करने लगे। विरोध जताने पर आरोपियो ने घर में घुसकर अभियोगी को मारा पीटा। किसी तरीके से भागकर अभियोगी थाने पहुंचा तो वहां पर तत्कालीन थानाध्यक्ष सुरेश चंद्र पांडे ने अभियोगी को कार्रवाई कराने का दिलाशा देकर बैठा लिया और आरोपियों से सेटिंग-गेटिंग कर विवादित जमीन पर कब्जा करने के लिए उकसा दिया। थानाध्यक्ष की मिलीभगत से आरोपियों ने जमीन पर कब्जा कर लिया। कई घंटों तक थाने पर बैठे रहने के बावजूद कार्रवाई ना होने पर अभियोगी ने थानाध्यक्ष से जानकारी लेना चाहा तो थानाध्यक्ष सुरेश चन्द्र पांडेय ने वर्दी का रौब झाड़कर उसे जाति सूचक अपशब्द कहते हुए थाने से डांटकर भगा दिया। इस मामले में अभियोगी ने तत्कालीन सीओ से लेकर एसपी तक को सूचित किया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। पुलिस से निराश अभियोगी ने कोर्ट की शरण ली। अभियोगी के जरिए दर्ज कराए गए केस में सुनवाई के दौरान गवाहों ने अपने बयान दर्ज कराया। मामले में सुनवाई के पश्चात संज्ञान लेते हुए स्पेशल जज उत्कर्ष चतुर्वेदी ने तत्कालीन थानाध्यक्ष सुरेश चन्द्र पांडेय समेत सभी आरोपियों को घर में घुसकर मारपीट व एससी-एसटी एक्ट समेत अन्य गंभीर धाराओं में विचारण के लिए तलब किया है। कोर्ट के कड़े रुख से थानाध्यक्ष सहित अन्य आरोपियों की मुश्किलें बढ़ गई है।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन