जिला बाल संरक्षण समिति की त्रैमासिक बैठक का आयोजन

उन्नाव 


आज जिलाधिकारी श्री देवेन्द्र कुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में जिला बाल संरक्षण समिति उन्नाव की त्रैमासिक बैठक कलेक्ट्रेट सभागार, उन्नाव में जिला बाल संरक्षण समिति के नामित सदस्यों के साथ बाल संरक्षण विषय पर आहुत की गयी, जिसमें सी0पी0एस0 योजनान्तर्गत जिला बाल संरक्षण इकाई के कार्याें की समीक्षा करते हुए प्रवर्तकता कार्यक्रम अन्तर्गत गत् वर्ष लाभान्वित 25 बच्चों की इस वर्ष भी निरन्तरता बनाये रखनेे हेतु सहमति प्रदान की गयी। साथ ही बाल कल्याण समिति, किशोर न्याय बोर्ड एवं चाईल्ड लाइन के कार्याें की भी समीक्षा की गयी एवं लम्बित प्रकरणों के निस्तारण हेतु निर्देशित किया गया। बाल कल्याण अधिकारियों, विशेष किशोर पुलिस इकाई के अधिकारी व कर्मचारियों एवं ए.एच.टी.यू. के अधिकारी को बच्चों के साथ फ्रेण्डली व्यवहार किये जाने, हथकड़ी न लगाने, सादी वर्दी में मिलने, बच्चों की गुमशुदगी के प्रकरण में एफ.आई.आर. दर्ज कर 24 घण्टे के अन्दर मिसिंग द चाईल्ड ट्रैक पर सूचना अपलोड करने एवं बच्चों से सम्बन्धित प्रकरणों को प्राथमिकता से निस्तारण करने हेतु निर्देशित करने के साथ ही थाना कोतवाली उन्नाव में वल्र्ड विजन द्वारा एक चाईल्ड फेंडली कक्ष निर्मित किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। समस्त बाल विकास परियोजनाधिकारियों को ब्लाॅक बाल संरक्षण समिति एवं ग्राम बाल संरक्षण समिति की बैठकें आयोजित कर बैठक की कार्यवत्ति समाचार पत्रों में प्रकाशित किये जाने के साथ ही बैठकों की सूचना एवं कार्यवृत्ति जिला प्रोबेशन अधिकारी को उपलब्ध कराये जाने हेतु निर्देशित किया गया। जनपद के स्कूलों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों पर आमजनमानस को आमंत्रित कर बैठक आयोजित कर पाॅक्सों ऐक्ट, बाल संरक्षण/जे0जे0 ऐक्ट के अन्तर्गत जानकारी प्रदान किये जाने एवं योजना के प्रचार-प्रसार हेतु निर्देशित किया गया।  
बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री माधव प्रसाद वर्मा, मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रेम रंजन सिंह, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी, जिला बाल संरक्षण अधिकारी श्रीमती रेनू यादव, अपर जिला सूचना अधिकारी श्रीमती सोनी सिंह सदस्य बाल कल्याण समिति, सदस्य किशोर न्याय बोर्ड, प्रतिनिधि जिला विद्यालय निरीक्षक, प्रतिनिधि जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, प्रभारी डी0सी0आर0बी0, महिला थानाध्यक्ष, समस्त बाल विकास परियोजना अधिकारी, प्रभारी 1098-चाईल्ड लाइन, समस्त थानों के बाल कल्याण अधिकारी, विशेष किशोर पुलिस इकाई, एण्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग इकाई के अधिकारी व अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी तथा जिला बाल संरक्षण इकाई के संरक्षण अधिकारी श्री संजय कुमार मिश्र, विधि-सह परिवीक्षा अधिकारी श्री अवधेश कुमार व समस्त कर्मचारी उपस्थित रहे।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन