केन्द्रीय मंत्री से मिले योगी सरकार के जलशक्ति मंत्री, मांगा आवश्यक सहयोग एवं मागदर्शन

लखनऊ।


उ.प्र. के जलशक्ति मंत्री डॉ0 महेन्द्र ंसिंह ने बुद्धवार को केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत से उनके नई दिल्ली स्थित सरकारी आवास पर शिष्टाचारिक मुलाकात कर उन्हें दीपावली की बधाई दी। इसके साथ ही उन्होंने उ0प्र0 में जलशक्ति विभाग के अधीन संचालित विभिन्न योजनाओं की प्रगति के बारे में विस्तार से जानकारी दी और केन्द्रीय मंत्री से आवश्यक सहयोग एवं मागदर्शन का अनुरोध किया।
भेंट के दौरान डॉ0 महेन्द्र ंसिंह ने शेखावत को अवगत कराया कि उ0प्र0 की योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा जलशक्ति विभाग को नई ऊर्जा एवं उत्साह के साथ संचालन किया जा रहा है। इसके साथ ही वर्षों से अधूरी पड़ी बाण सागर पहुंच बांध, पथरइ बांध, पहाड़ी बांध, लहचूरा बांध, गुंटा बांध मौदहा तथा जमरार बांध आदि योजनाओं को पूरा कर 2 लाख 66 हजार 666 हेक्टेयर सिंचन क्षमता वृद्धि कर लगभग 2.35 लाख किसानों को लाभान्वित किया गया है।
जलशक्ति मंत्री ने बताया कि बुन्देलखण्ड में 8384 खेत तालाबों का निर्माण कराया गया, 50 लाख किसानों को कम पानी से अधिक से अधिक फसल लेने हेतु ड्रिप-स्प्रिंकलर सिंचाई नई तकनीक से लाभन्वित किया गया। प्रदेश मे निशुल्क बोरिंग योजना से 161485 हेक्टेयर सिंचन क्षमता की बढ़ोतरी हुई है। भूगर्भ जल संरक्षण एवं संचयन एवं सम्वर्द्धन हेतु सुसंगत कानून बना कर रेन वाटर हारवेस्टिंग प्रणाली को अनिवार्य बनाया जा रहा है।
नमामि गंगे कार्यक्रम के तहत गंगा नदी को निर्मल, और प्रवाहमय बनाया जा रहा है। जिसके फलस्वरूप प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के नवीनतम सर्वे के अनुसार बीओडी स्तर मे काफी कमी आई है। सर्वेक्षण के आंकड़ों के अनुसार कानपुर डाउनस्ट्रीम मे टोटल कालीफार्म एक लाख 20 हजार से घटकर 33 हजार व फीकल काँलीफार्म 47 हजार से घटकर 21 ही रह गये। केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री ने उ.प्र. के सरकार सराहनीय प्रगति पर संतोष व्यक्त करते हुए पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन