मां लक्ष्मी, सरस्वती व गणेश की प्रतिमाएं शक्ति कुण्ड में विसर्जित

अहियापुर से शोभायात्रा को हरी झण्डी दिखाकर किया गया शुभारम्भ
नगरवासियों के लिये आकर्षण की केन्द्र बनी रहीं प्रेरणास्रोत झांकियां
जौनपुर।


श्री लक्ष्मी पूजा महासमिति के नेतृत्व में जनपद की तमाम पूजन समितियों द्वारा पण्डालों में स्थापित मां लक्ष्मी, सरस्वती एवं श्री गणेश की प्रतिमाएं मंगलवार की देर रात गोमती नदी के किनारे बने शक्ति कुण्ड में विसर्जित कर दी गयीं। इस दौरान भक्तों द्वारा किये गये जयघोष से पूरा वातावरण गूंजायमान रहा।
इसके पहले सभी प्रतिमाएं अहियापुर मोड़ पर पहुंचीं जहां सबसे आगे खड़ी प्रतिमा के समक्ष पूजा-पाठ के उपरान्त हरी झण्डी दिखाकर शोभायात्रा को रवाना किया गया। शोभायात्रा सुतहट्टी बाजार, सब्जी मण्डी, कोतवाली चैराहा, चहारसू चैराहा, शाही पुल, ओलन्दगंज, कजगांव पड़ाव होते हुये नखास स्थित विसर्जन घाट पहुंची। शोभायात्रा में प्रतिमाओं के अलावा प्रेरणास्रोत झांकियां रहीं जो नगरवासियों के लिये आकर्षण की केन्द्र बनी रहीं।
कोतवाली चैराहे पर बने नियंत्रण कक्ष पर मौजूद निर्णायक मण्डल के सदस्य हरिद्वारी विश्वकर्मा एडवोकेट, सारिका सोनी, संगीता अग्रवाल, विजयलक्ष्मी यादव, दिलीप जायसवाल व सरदार रंजीत सिंह ने प्रतिमाओं व झांकियों का बारीकी से अवलोकन किया।
इस दौरान संरक्षक डा. राम नारायण सिंह, राकेश श्रीवास्तव, विजय सिंह, दीपक चिटकारिया, संयोजक जगदीश मौर्य, शिक्षाविद् डा. ब्रजेश यदुवंशी, डा. संदीप पाण्डेय सहित तमाम लोगों ने मां लक्ष्मी, सरस्वती व श्री गणेश की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।
शोभायात्रा को आगे बढ़ाने का कार्य महासमिति के मुख्य संरक्षक रामजी जायसवाल, अध्यक्ष चन्द्रशेखर निषाद बबलू, महासचिव लाल बहादुर यादव, कृष्ण कुमार जासयवाल, चित्रसेन यादव बबलू सहित अन्य पदाधिकारी कर रहे थे।
वहीं विसर्जन घाट पर प्रभारी शिवचरन निषाद, बलराम निषाद, रोहित निषाद सहित अन्य सहयोगियों ने अपनी जिम्मेदारी निभायी। कोतवाली चैराहे से पूरे मेले का संचालन संस्थापक सुशील वर्मा एडवोकेट व दयाराम गुप्ता ने संयुक्त रूप से किया।
कार्यक्रम को सफल बनाने में अजय पाण्डेय, महफूज अली सिद्दीकी, रविन्द्र निषाद, कृष्णकांत विश्वकर्मा, भाजपा नेता इं. कृष्ण कुमार जायसवाल, सपा नेता श्रवण जायसवाल, विपणन अधिकारी अनिल साहू, बृजेश यादव, संतोष यादव, संजय अस्थाना, राहुल सिंह, दीपक अग्रहरि, दीपक जायसवाल, सुनील मौर्य, रमेश मौर्य, ऋतुकान्त विश्वकर्मा, रमेश मौर्या, महेन्द्र प्रताप चैधरी के अलावा अन्य लोगों का सहयोग सराहनीय रहा।
वहीं दर्जन भर से अधिक स्वयंसेवी संगठनों द्वारा पूरे शोभायात्रा मार्ग पर स्टाल लगाकर मेलार्थियों की सेवा की गयी। अन्त में अध्यक्ष चन्द्रशेखर निषाद व महासचिव लाल बहादुर यादव नैपाली ने समस्त आगंतुकों व सहयोगियों के प्रति आभार जताया।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन