प्रधानमंत्री श्रम सम्मान योजना के तहत प्रशिक्षित जरी कारीगरों को किया गया टूलकिट वितरण

उन्नाव 


जिलाधिकारी श्री देवेन्द्र कुमार पाण्डेय के निर्देशानुसार आज विकास भवन सभागार में जनपद के प्रशिक्षित जरी कारीगरों को टूलकिट वितरण मा0 विधायक सदर श्री पंकज गुप्ता जी के कर-कमलों से किया गया। उपायुक्त उद्योग ने अवगत कराया कि एक जनपद एक उत्पाद योजनान्तर्गत जनपद उन्नाव का चयन जरी-जरदोजी हस्तशिल्प हेतु किया गया है तथा उक्त योजनान्तर्गत ही वित्तीय वर्ष 2018-19 में जनपद के सुदूर क्षेत्रों के 100 जरी कारीगरों को 06 दिवसीय प्रशिक्षण उ0प्र0, कौशल विकास मिशन द्वारा प्रदान किया गया था, जिसमें से कुछ प्रशिक्षुओं को दिनांक 01 अक्टूबर .2019 को लखनऊ में आयोजित कार्यक्रम में मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा टूलकिट वितरित किया जा चुका है। आज आयोजित कार्यक्रम में 35 हस्तशिल्पियों को विधायक जी के कर-कमलों से सम्मानित किया जा रहा है।
मुख्य अतिथि श्री पंकज गुप्ता जी ने उपस्थित हस्तशिल्पियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि जनपद उन्नाव में कुछ समय पूर्व तक जरी जरदोजी का कार्य व्यापक स्तर पर होता था परन्तु औद्योगिककरण व आधुनिकता की बयार में हमारे हस्तशिल्पियों को उनके कार्य का वह प्रतिफल प्राप्त नहीं हो पाया जिसके वे हकदार थे। परिणामतः उक्त कार्य सिमट कर कुछ हस्तशिल्पियों तक सीमित रह गया। परन्तु प्रदेश सरकार द्वारा जनवरी 2018 में आरम्भ की गयी एक जनपद एक उत्पाद योजना से हस्तशिल्पियों में नवीन ऊर्जा का संचार हुआ है। अब सरकार के निर्देश पर विभाग के अधिकारी एक-एक हस्तशिल्पी के पास स्वयं पहुंच रहें है तथा उन्हें ऋण उपलब्ध कराने के साथ-साथ टूलकिट प्रशिक्षण में भी सम्मिलित कर रहें है। उन्होनें कहा कि किसी भी योजना की वास्तविक उपलब्धि तभी समझी जाती है जब समाज के अंतिम पायदान पर खड़े व्यक्ति को उसका लाभ प्राप्त हो सकें। उन्होनें हस्तशिल्पियों को भरोसा दिलाया कि उनकें कार्य हेतु सदैव तत्पर है तथा कोई भी आवश्यकता पड़ने पर हस्तशिल्पी उनसे सम्पर्क कर सकते है। बैठक में सफीपुर, मियागंज, हैदराबाद, आसीवन व सदर क्षेत्र के हस्तशिल्पिी उपस्थित रहें। बैठक के अंत में परियोजना निदेशक, डी0आर0डी0ए0 ने मुख्य अतिथियों व समस्त हस्तशिल्पियों का धन्यवाद ज्ञापन किया।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले