प्रमुख सचिव ने की कानून व्यवस्था एवं विकास कार्यों से संबंधित 18 बिंदुओं की समीक्षा




 
















उन्नाव

श्रीमती बीना कुमारी मीना, प्रमुख सचिव, स्टाम्प रजिस्ट्रेशन एवं खनन विभाग, उ0प्र0 शासन/नोडल अधिकारी जनपद उन्नाव महोदया की अध्यक्षता में कानून व्यवस्था एवं विकास कार्यों से संबंधित 18 बिंदुओं की समीक्षा बैठक का आयोजन विकास भवन सभागार में किया गया। बैठक में भू-माफियाओं के विरुद्ध कार्यवाही पर समीक्षा की गई एवं अवैध खनन के विरुद्ध कार्यवाही पर समीक्षा करते हुए प्रमुख सचिव महोदया ने खनन अधिकारी को कड़े निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि  रेट इतने हाई नहीं होने चाहिए, साधारण मिट्टी के प्रार्थना पत्र लंबित पड़े हैं कृपया उनका निस्तारण कराएं। निराश्रित गोवंश हेतु गो आश्रय स्थल के निर्माण/ संचालन, आयुष्मान भारत योजना, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना, न्यूनतम समर्थन मूल्य पर क्रय (गेहूं /धान/ मक्का/ बाजरा), गन्ना भुगतान, स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री आवास योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना (ग्रामीण), राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एन0आर0एल0एम0), पेयजल योजना, सामूहिक विवाह योजना, समस्त पेंशन योजना, समस्त छात्रवृत्ति योजना, कन्या सुमंगला योजना, आईसीडीएस, शिक्षा की गुणवत्ता/ छात्र-छात्राओं का नामांकन बढ़ाए जाने पर चर्चा, नेहरों एवं राजकीय नलकूपों से सिंचित की जा रही भूमि/नहरों की सफाई /पानी की उपलब्धता आदि बिंदुओं पर चर्चा की गयी। आधार सीडिंग, सप्लाई का सिस्टम रुचिकर न पाए जाने पर जिला पूर्ति अधिकारी को, प्राथमिक विद्यालयों में सुव्यवस्था न पाए जाने पर शिक्षकों द्वारा बच्चों को रुचि लेकर ना पढ़ाए जाने पर रोष व्यक्त करते हुए खंड शिक्षा अधिकारी को कड़े निर्देश दिए। राष्ट्रीय आजीविका मिशन के अंतर्गत समूह के बारे में चर्चा करते हुए डी0सी0एन0आर0एल0एम0 द्वारा अवगत कराया गया कि समूह में ओ0डी0ओ0पी0/ जरी जरदोजी का काम होता है, जिसमें बैग, सोलर लैंप, दोना पत्तल की दुकान आदि पर प्रत्येक ब्लॉक एवं अस्पताल में कार्य होता है जहां आवागमन के साधन नहीं है वहां की महिलाओं को वाहन उपलब्ध कराये गयें हैं। एक्स0ई0एन0 जल निगम द्वारा अवगत कराया गया कि 5 योजनाएं पूर्ण कर ली गई हैं। जिले में कुल 134 योजनाएं हैं 40 बंद हैं जिनका सर्वे हो चुका है, 94 योजनायें चल रही हैं। कन्या सुमंगला योजना के बारे में जिला प्रोबेशन अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि फाइनल ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 2973 हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत पहली संतान बालिका होने पर और दूसरे प्रसव में भी दो जुड़वा बालिका जन्म लेती हैं तो उन्हें इस योजना का लाभ मिलता है।
प्रमुख सचिव महोदया ने खंड शिक्षा अधिकारी को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि इस बात का ध्यान अवश्य रखा जाए कि स्कूलों में बहुत ही गरीब परिवार के बच्चे भी पढ़ने आते हैं, जिसपर टीचर को उन पर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है। इस दौरान उन्होंने समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुये कहा कि कोई भी पात्र लाभार्थी शासन द्वारा निर्धारित जनकल्याणकारी योजनाओं से वंचित नहीं रहना चाहिये, सभी को लाभ अवश्य मिले।
जिलाधिकारी श्री देवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने नोडल अधिकारी महोदया को आश्वस्त करते हुये कहा कि शासन एवं आपकी मंशा के अनुरूप पात्र लाभार्थियों को जनकल्याणकारी योजनाओं से लाभ दिलाया  जाता रहेगा।
बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री माधव प्रसाद वर्मा, मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रेम रंजन सिंह, नगर मजिस्ट्रेट श्री राकेश गुप्ता, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी श्री राजदीप वर्मा, जिला विकास अधिकारी श्री आर0 यू0 दिवेदी, परियोजना निदेशक सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।















Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन