साहित्य आराधन सम्मान एवं कृति लोकार्पण सम्पन्न

लखनऊ।


साहित्यिक संस्था साहित्य आराधन द्वारा श्री कृष्णेश्वर डींगर स्मृति साहित्य आराधन सम्मान से रविनन्दन सिंह (प्रयागराज), श्री कृष्ण कुमार अनिल स्मृति साहित्य आराधन सम्मान से कमलेश सुल्तानपुरी, श्री धर्मनारायण दुबे स्मृति साहित्य आराधन सम्मान से डॉ. दिनेश चन्द्र अवस्थी एवं प्रियंक स्मृति बाल साहित्य आराध सम्मान से अखिलेश श्रीवास्तव 'चमन' को अंगवस्त्र, स्मृति चिह्न एवं प्रशस्ति पत्र भेंटकर डॉ. योगेश प्रवीन, डॉ0 सुधाकर अदीब एव संजीव जायसवाल 'संजय' द्वारा सम्मानित किया गया।
इस अवसर पर सम्मानित साहित्यकारों ने साहित्य आराधन की पहल का स्वागत करते हुए संस्था के उज्ज्वल भविष्य की कामना की। साथ ही यह भी कहा कि सम्मान प्राप्त कर वे स्वयं को गौरवान्वित अनुभव कर रहे हैं।
इस अवसर पर डॉ. अमिता दुबे के बाल कहानी संग्रह 'राह मिल गई' का लोकार्पण भी सम्पन्न हुआ, जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में प्रोफेसर सय्यद जफ़र हुसैन जैदी, विभागाध्यक्ष, क्लीनिकल, साइकोलाजी, एमिटी यूनिवर्सिटी, लखनऊ उपस्थित रहे। 'राह मिल गई' कृति पर सुश्री स्नेहलता ने अपने विचार व्यक्त किये। अभ्यागतों का स्वागत अलका प्रमोद ने किया तथा संचालन डॉ. अमिता दुबे द्वारा किया गया। वाणी वन्दना एवं भजन की प्रस्तुति अंशुमा दुबे द्वारा की गयी।
समारोह में संतोष डींगर, नीलम राकेश, अजयश्री, अखिलेश त्रिवेदी, रश्मि शील, आलोक कुमार दुबे, डॉ. विद्याबिन्दु सिंह, निर्मला सिंह, शशि जैन शारदा लाल आदि सहित स्थानीय साहित्यकार उपस्थित रहे।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले

’’पवन गुरू, पानी पिता, माता धरति महत’’ को अपने जीवन का अंग बनायें : स्वामी चिदानन्द सरस्वती