सोलर लैम्प योजना का राज्य परियोजना प्रबंधक ने किया निरीक्षण

हसवां, हथगाम, ऐरायां, मलवां व तेलियानी की वस्तुस्थिति का लिया जायजा
फतेहपुर।


आईआईटी बाम्बे के राज्य परियोजना प्रबंधक शैलेन्द्र द्विवेदी ने सर्वप्रथम तेलियानी, मलवां में सोलर लैम्प योजना के तहत असेंबली एवं डिस्ट्रीब्यूशन केंद्र पर समूह की महिलाआंे के द्वारा बनाये जा रहा है सोलर लैम्प व उसकी गुणवत्ता देखी। सभी दस्तावेजों को गहनता से चेक किया। इसके बाद हसवां, हथगाम, भिटौरा व ऐरायां ब्लाक में जिन महिलाओं ने सोलर शाॅप खोली है उन दुकानों पर जाकर उनकी आमदनी देखकर काफी प्रभावित हुए।
श्री द्विवेदी ने बताया कि जिले के 06 ब्लाको में ये योजना चल रही है। जहाँ पर 02 लाख बच्चों को लैम्प वितरण का लक्ष्य था। अभी तक 01 लाख 50 हजार बच्चों को लैम्प वितरण हो चुका है व 25 सोलर शाॅप खुल चुकी है। जहाँ पर सोलर से संबंधित प्रोडक्ट मिलते हैं। इस योजना के तहत 150 महिलाओं को रोजगार मिला है। अधतन उत्तर प्रदेश में 30 जनपदो के 77 विकास खंडो में 89 असेंबली एंड डिस्ट्रीब्यूशन सेंटर स्थापित कर 22  लाख बच्चो को लैम्प उपलब्ध कराया गया है। इस  इस कार्य से 3500 से ज्यादा महिलाएं जुड़ी है। वर्तमान में इस इस कार्य से समूह की महिलाओं को लगभग 05 करोड़ रुपए की आय हुई है व महिलाओ के संगठनों के कोष में लगभग 10 करोड़ रुपए एकत्र हुआ है जिसका उपयोग महिलाओ में सोलर उधमिता विकसित करने हेतु किया जायेगा। इस योजना के प्रमुख तीन उद्देश्य है जिसमे सर्वप्रथम बच्चो को स्वच्छ प्रकाश उपलब्ध कराते हुए बेहतर शिक्षा में सहयोग करना तथा  महिलाओ को पर्यावरण अनकूल आजीविका के नये स्त्रोतों से जोड़ना है। उन्होंने बताया कि यह लैम्प स्कूलो मंे 100 रुपए में वितरण किया जा रहा है। जबकि इस लैंप का वास्तविक मूल्य सात सौ रूपये है। समूह की जो महिलाएं इस लैम्प को असेम्बल करती हैं उन्हें 12 रूपये प्रति लैम्प एवं वितरण करने वाली महिलाओं को 17 रूपये प्रति लैम्प दिया जा रहा है जिससे महिलाएं प्रतिदिन तीन से चार सौ रूपये तक आमदनी कर रही है। महिला सशक्तिकरण को समर्पित आजीविका मिशन के विविध कदमों में एक महत्वपूर्ण पहल महिलाओं को रोजगार के साधनों से जोड़ते हुए उनके परिवार को सामाजिक सुरक्षा भी उपलब्ध कराना है।





 




Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले