युवक ने खुद को आग लगा पड़ोसन को पकड़ने का किया प्रयास

गम्भीर हालत में कानपुर रिफर, महिला भी हुयी बदहवास


फतेहपुर।


शहर क्षेत्र के आबूनगर खलीनगर में सोमवार की सुबह लगभग 23 वर्षीय एक युवक ने अपने ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगाने के बाद पड़ोसी के घर घुसकर गृहस्वामिनी को पकड़ने का प्रयास किया। जो बदहवास अवस्था में बाहर भागी और बेहोश हो गयी। वहीं परिजनों ने झुलसे युवक को उपचार के लिए जिला चिकित्सालय पहुंचाया। जहां उसकी हालत गम्भीर देखते हुए कानपुर के लिए रिफर कर दिया गया। वहीं महिला को भर्ती कर उपचार किया जा रहा है।
जानकारी के अनुसार आबूनगर खलीलनगर मुहल्ला निवासी जसवंत रैदास सदर अस्पताल के सामने फल का ठेला लगाकर अपने परिवार का पालन पोषण करता है। पत्नी जनक दुलारी अपने 11 वर्षीय पुत्र के साथ घर पर थी। इसी बीच पड़ोसी बृजेश कुमार रैदास का पुत्र विवेक रैदास ने अपने ऊपर पेट्रोल डालकर आग लगा लिया और आग का गोला बन पड़ोसी जसवंत के घर घुस गया और उसकी पत्नी जनक दुलारी को पकड़ने का प्रयास किया। आग की लपटों में युवक को देख महिला घबरा गयी और बाहर की तरफ भागकर आयी और बेहोश हो गयी। शोर-शराबा सुनकर विवेक के परिजन व आस-पास के लोग मौके पर पहुंचे। युवक के शरीर में लगी आग को बुझाया और उपचार के लिए जिला चिकित्सालय लाये। जहां इमरजेन्सी में तैनात चिकित्सक ने उसकी हालत चिन्ताजनक देखते हुए कानपुर मेडिकल कालेज के लिए रिफर कर दिया। वहीं महिला को भी अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना के बाबत जानकारी देते हुए जसवंत ने बताया कि उनका अपने पड़ोसी बृजेश कुमार रैदास से दो साल से विवाद चल रहा है। आये दिन शराब के नशे में उसका पुत्र गाली-गलौज करता था। जिसको लेकर कई बार विवाद भी हुआ। इसके पहले भी विवेक ने उसकी पत्नी को कई बार गाली-गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दी थी और आज साथ में जलाने की गरज से उसकी पत्नी को पकड़ने की कोशिश की। भुक्तभोगी ने आबूनगर चैकी में विवेक के खिलाफ तहरीर दी है।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन