बुलडोजर लगाकर हो रहे जबरन कब्जे के मामले में छह नामजद सहित 57 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

सुल्तानपुर।

बीती रात में बुलडोजर के सहारे मकान पर कब्जा करने आए आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने 57 लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है। मामला कोतवाली नगर क्षेत्र स्थित गल्ला मंडी से जुड़ा है, जहां पर मौजूद विवादित मकान पर जबरन हो रहे कब्जे के संबंध में मालती देवी पत्नी स्वर्गीय सियाराम ने कोतवाली में तहरीर दी। आरोप के मुताबिक उनका परिवार विवादित मकान में किराया जमा कर रहते चले आ रहे हैं।
आरोप है कि बीती रात करीब 1ः30 बजे जब वह अपने पुत्र अनिल अग्रहरि के साथ मकान में मौजूद रही। इसी दौरान आरोपीगण मनोज सिंह-भैरोपुर, सिद्दीक अजीत सिंह, हनी सुत गुलाब सिंह, राकेश सिंह, बबलू शर्मा ने जेसीबी चालक से मकान गिराने को कहा। जिस पर वह दुकान की चद्दर आदि गिराने लगा तो आवाज सुनकर जब मालती देवी व उसका पुत्र अनिल बाहर निकलकर विरोध जताने लगे तो आरोपियों ने जेसीबी चालक को उकसाकर उन्हें उसी में दबाकर मार डालने के लिए भी कहा। दोनों जान बचाने के लिए बाहर निकले तो आरोपियों के 50 अज्ञात समर्थकों ने उनके साथ गाली गलौज एवं मारपीट की। आधी रात को हुई इस घटना की खबर सोशल मीडिया पर वायरल हुई और इसमें पुलिसिया संलिप्तता उजागर होने लगी तो हरकत में आई पुलिस ने छह नामजद, जेसीबी चालक व 50 अज्ञात लोगों के खिलाफ भादवि की धारा 147, 148,323, 504, 506, 427 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया है। अभियोगिनी ने 1ः30 बजे की घटना बताई है। घटना की सूचना पुलिस को तुरंत दी गई है और मुकदमा घटना के करीब पौने दो घण्टे बाद दर्ज हुआ है। बावजूद इसके अपने खिलाफ चली खबर पर बैलेंस बनाने के लिए पुलिस ने आरोपियों पर मुकदमा दर्ज कर व कुछ को हिरासत में लेकर अपनी वाहवाही लूटने के लिए पक्ष में सूचना भी प्रसारित कराई। ऐसे में सवाल उठता है कि कोतवाली से कुछ कदम की दूरी पर हुई घटना के विषय में तत्काल सूचना मिलने के बाद भी पुलिस ने एफआईआर पौने दो घण्टे बाद दर्ज कर लिया तो कौन सी तेजी बरत दी है। ऐसे में कोतवाल के जरिए इस मामले में हुई कार्यवाही महज दिखावा व वाहवाही लूटने के प्रयास के रूप में नजर आ रही है।
सूत्रों के मुताबिक इस मामले में कोतवाली पुलिस ने आरोपी पक्ष से विवादित मकान पर कब्जा कराने को लेकर लम्बी डीलिंग की थी, लेकिन आधी रात में हुई इस घटना से पुलिसिया भद्दगी होने के बाद पुलिस इस मामले में लोड लेने को तुरन्त राजी नही हो रही है। समय आने पर वह फिर आरोपियो से तय सौदे के मुताबिक अपना दांव लगाने की जुगाड़ में जुटी हुई है। फिलहाल पुलिस इस मामले में अपने को पाक-साफ दिखाते हुए तत्काल एक्शन लेने का ढिढोरा पीट रही है। पुलिस इस मामले में कितनी सच्ची है या तो आने वाला वक्त ही बताएगा।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन