मांग पूरी न होने से नाराज होकर 70 लेखपालों ने जमा किया अपना बस्ता

उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ के आवाहन पर लिया गया फैसला
राजस्व से संबंधित कामकाज हुए ठप
बिंदकी (फतेहपुर)।

पिछले कई महीनों से लंबे संघर्ष के बावजूद जब लेखपालों की मांगे पूरी नहीं हुई तो लेखपाल संघ के आवाहन पर लेखपाल बिंदकी तहसील इकाई संघ के लोगों ने अपने करीब 70 बस्ते जमा कर दिए। जिससे राजस्व विभाग का काम पूरी तरह से ठप हो गया। लेखपाल संघ ने कहा कि उनकी मांग पूरी न होने पर लगातार लड़ाई जारी रहेगी।
लेखपाल संघ द्वारा कई प्रमुख मांगों को लेकर पिछले कई महीनों से संघर्ष किया जा रहा है लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा बार-बार आश्वासन दिए जाने के बावजूद भी उनकी मांग पूरी नहीं की जा रही है। जिससे नाराज लेखपाल संघ ने पिछले दिनों सभी इकाइयों को सूचित कर संघर्ष की रूपरेखा बताई थी। जिसके तहत मंगलवार को बिंदकी तहसील परिसर के आरके ऑफिस में 70 लेखपालों ने अपने बस्ते जमा कर दिए लगभग सभी लेखपालों के बस्ते जमा हो जाने के बाद राजस्व विभाग का काम पूरी तरह से प्रभावित हो गया। इस संबंध में बिंदकी तहसील इकाई के अध्यक्ष विरेंद्र सिंह ने कहा कि यह निर्णय प्रदेश लेखपाल संघ के आवाहन पर लिया गया है और आगे भी जो रूपरेखा बनी है उसके अनुसार कार्यक्रम होते रहेंगे। आने वाले समय में नगर के प्रमुख मार्गों में बाइक रैली निकाली जाएगी।
लेखपाल संघ का स्थापना दिवस मनाया जाएगा। यही नहीं लखनऊ जाकर विधानसभा का घेराव भी आने वाले समय में किया जाएगा। इस मौके पर लेखपाल संघ के तहसील इकाई के मंत्री अनुराग बाजपेई ने कहा कि बार-बार आश्वासन दिए जाने के बावजूद भी लेखपालों की मांग पूरी नहीं की गई है। उत्तर प्रदेश सरकार की इस नीतियों के खिलाफ लेखपाल संघ ने लड़ाई शुरू कर दी है और यह लड़ाई जब तक जारी रहेगी। जब तक मांग पूरी नहीं की जाती है। इस मौके पर तहसील इकाई संघ के कनिष्ठ उपाध्यक्ष अजीत कुमार वर्मा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष धर्मपाल सिंह, बालकरण, रामकरण, सुरेश कुमार, दिनेश चंद सहित आदि लोग मौजूद रहे।

 

Popular posts from this blog

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन