नोडल अधिकारी ने कोतवाली नगर का किया औचक निरीक्षण

सोशल मीडिया व जमानत पर रिहा अपराधियों की सघन मानीटरिंग के दिए निर्देश
फरियादियों के मोबाइल पर खुद फोन कर निस्तारण की गुणवत्ता का किया परीक्षण
गोण्डा।


शुक्रवार को जिले के नोडल अधिकारी/मण्डलायुक्त कानपुर मण्डल श्री सुधीर एम0 बोबड़े ने अपने जनपद भ्रमण कार्यक्रम अन्तर्गत विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों, जनकल्याणकारी योजनाओं तथा कानून व्यवस्था की समीक्षा की एवं स्थलीय निरीक्षण कर प्रगति की हकीकत देखी।
जनपद भ्रमण पर आए नोडल अधिकारी ने सबसे पहले कोतवाली नगर का निरीक्षण किया। वहां पर उन्होंने मालगोदाम का निरीक्षण कर शस्त्रों के बारे में जानकारी ली। इसके बाद उन्होंने हिस्ट्रीशीट रजिस्टर, समाधान दिवस रजिस्टर, अपराध रजिस्टर, वेरीफिकेशन रजिस्टर आदि का अवलोकन किया। कोतवाली में ही उन्होंने समाधान दिवस रजिस्टर में दर्ज शिकायतकर्ताओं के मोबाइल नम्बर पर फोन करके उनसे शिकायत निस्तारण की हकीकत की जानकारी ली। उन्होंने शिकायतकर्ताओं रज्जन कश्यप व डा0 मिथिलेश के मोबाइल नम्बर पर कॉल करके शिकायत निस्तारण की गुणवत्ता की जानकारी ली।  समाधान दिवस रजिस्टर में सभी शिकायतकर्ताओं का मोबाइल नम्बर न दर्ज किए जाने पर उन्होंने निर्देश दिए थाने में आने वाले हर फरियादी का मोबाइल नम्बर अनिवार्य रूप से दर्ज किया जाय, जिससे निस्तारण की गुणवत्ता की रैण्डम जांच की जा सके।
कोतवाली नगर में निरीक्षण के दौरान उन्होंने वहां पर मौजूद अपर पुलिस अधीक्षक महेन्द्र कुमार को सख्त निर्देश दिए कि सोशल मीडिया की सघन से सघन मानीटरिंग कराई जाय तथा सौहार्द बिगाड़ने वाले संदेश भेजने वालों के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाय। इसके अलावा उन्होंने जमानत पर रिहा होने वाले अपराधियों की विशेष निगरानी किए जाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिए कि डिजिटल वालेन्टियर्स बढ़ाए जाएं। वहां पर उन्होंने एनएसए के तहत की गई कार्यवाहियों की भी जानकारी ली। अपर पुलिस अधीक्षक द्वारा उन्हें अवगत कराया गया कि आरक्षियों के लिए पर्याप्त बैरक न होने के कारण दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। इस पर उन्होंने शासन स्तर से कार्यवाही कराने का आश्वासन दिया।
कोतवाली में निरीक्षण के दौरान डीएम डा0 नितिन बंसल, अपर पुलिस अधीक्षक महेन्द्र कुमार, सिटी मजिस्ट्रेट राकेश सिंह, एसडीएम सदर वीर बहादुर यादव, सीओ महावीर सिंह, नगर कोतवाल आलोक राव व अन्य मौजूद रहे।

महिला अस्पताल में पहुंचकर प्रभारी अधिकारी ने जाना स्वास्थ्य सेवाओं का हाल
कोतवाली नगर का निरीक्षण करने के बाद नोडल अधिकारी श्री बोबड़े जिला महिला अस्पताल पहुंचे। वहां पर उन्होंने इमरजेन्सी वार्ड में मरीज के तीमारदार सुरेन्द्र तिवारी से बातचीत कर अस्पताल में दी जा रही सेवाओं की जानकारी ली। अल्ट्रासाउण्ड कक्ष में उन्होंने दुल्लापुर खालसा निवासिनी मरीज ज्योति से बात की। बताया गया कि महिला अस्पताल में रेडियोलॉजिस्ट की नियमित तैनाती न होने से दिक्कत आ रही है। इस पर उन्होंने शासन स्तर से रेडियोलाजिस्ट की तैनाती जल्द कराने का आश्वासन दिया है। तत्पश्चात उन्होंने आयुष्मान योजना के काउन्टर व ओपीडी, वार्ड का निरीक्षण कर मरीजों से सीधे संवाद स्थापित कर स्वास्थ्य सेवाओं का हाल जाना। इस दौरान उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी व सीएमएस महिला अस्पताल को स्पष्ट निर्देश दिए कि सरकार की मंशानुसार मरीजों को अनुमन्य सभी सुविधाएं प्राथमिकता के आधार पर मुहैया कराएं।

सुभागपुर में निर्माणाधीन पेयजल परियोजना की टीएसी जांच के आदेश
अस्पताल का निरीक्षण के बाद उन्होंने ग्राम पंचायत सुभागपुर विकासखण्ड पण्डरीकृपाल में पहुंचकर ढाई करोड़ रूपए की लागत से निर्माणाधीन पेयजल योजना तथा ग्राम पंचायत टिकरिया में निर्मित गौ आश्रय स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने परियोजना को मार्च 2020 तक हर हाल में पूरा कराने तथा ग्राम पंचायत के हर घर में जलापूर्ति हेतु कनेक्शन कराने का काम तेजी से कराने के निर्देश दिए। गौ आश्रय स्थल पर पहुंचकर उन्होंने अभिलेखानुसार वहां पर दर्ज 71 गौ वंशों की गणना अपने सामने कराई तो वहां पर 71 के सापेक्ष 70 गौ वंश मौजूद मिले। वहां गौ वंशों के लिए की गई व्यवस्थाओं से वे संतुष्ट दिखे। उन्होंने गौ आश्रय स्थलों में संरक्षित गौवंशों की शत-प्रतिशत टैगिंग कराने के निर्देश दिए। इसके बाद उन्होंने लखनऊ-गोण्डा फोरलेन पर करनैलगंज भंभुआ के निकट चल रहे फोरलेन के निर्माण कार्य का भी निरीक्षण किया। वहां पर उन्होंने प्रयोग किए जा रहे मैटीरियल की सैम्पलिंग कराकर जांच के आदेश दिए हैं।

ग्राम पंचायत बैनिया में प्रभारी अधिकारी ने लगाई चौपाल
जिले के नोडल अधिकारी सुधीर एम बोबड़े ने स्थलीय निरीक्षण के बाद विकासखण्ड पण्डरीकृपाल अन्तर्गत ग्राम पंचायत बैनिया में चैपाल लगाकर लाभार्थीपरक योजनाओं का सत्यापन किया तथा ग्रामवासियों से वार्ता कर योजनाओं के क्रियान्वयन की पड़ताल की। वहां पर उन्होंने विद्यतु आपूर्ति, विद्युत बिल की स्थिति, ट्रान्सफार्मरों के रिप्लेसमेन्ट आदि के बारे में पूछा तथा एक्सईएन विद्युत को निर्देश दिए कि वे आगामी 25 नवम्बर तक सभी विद्युत  उपभोक्तओं को बिल मुहैया करा दें। बेसिक शिक्षा की समीक्षा के दौरान उन्होंने अभिभावकों से संवाद स्थापित कर यूनीफार्म, ड्रेस, जूता-मोजा तथा एमडीएम आदि की जानकारी ली। उन्होंने ग्रामवासियों से वार्ता कर आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों द्वारा अतिकुपोषित बच्चों व कुपोषित बच्चों के लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में भी पूछा। ग्रामवासियों द्वारा नोडल अधिकारी को अवगत करया गया कि ग्राम में पेयजल टंकी होने के बावजूद पेयजल आपूर्ति समुचित रूप से नहीं हो पा रही है। इस पर उन्होंने एक्सईएन जल निगम को निर्देशित किया कि वे एक माह के अन्दर पूरे गांव में जलापूर्ति सुनिश्चित कराएं। इसके अतिरिक्त चैपाल में उन्होंने विभिन्न पेंशन योजनाओं, खाद्यान्न वितरण की स्थिति, स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति, आवास योजना, मनरेगा सहित अन्य विभागीय योजनाओं की समीक्षा की तथा अधिकारियों को व्यक्तिगत रूचि लेकर अपेक्षित प्रगति लाने के निर्देश दिए।
स्थलीय निरीक्षण व भ्रमण के दौरान डीएम डा0 नितिन बंसल, सीडीओ आशीष कुमार, सीएमओ डा0 मधु गैरोला, पीडी सेवाराम चाधरी, डीपीआरओ घनश्याम सागर, डीसी मनरेगा हरिश्चन्द्र प्रजापति, डीएसओ वी0के0 महान, डीआईओएस अनूप श्रीवास्तव, जिला कृषि अधिकारी जेपी यादव, जिला प्रोबेशन अधिकारी जयदीप सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन