वेक्टर जनित रोगों के रोकथाम हेतु कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करें

उन्नाव 


जिलाधिकारी श्री देवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने वर्तमान समय में डेंगू, जे0ई0, ए0ई0एस0, चिकनगुनिया, मलेरिया/ फाइलेरिया व अन्य संक्रामक रोगों की प्रभावी संचरण काल को देखते हुए जनपद में संचारी रोग नियंत्रण अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि वेक्टर जनित रोगों के रोकथाम में साफ-सफाई एवं सार्वजनिक स्वच्छता एक महत्वपूर्ण घटक है। साफ-सफाई के अभाव में बीमारियां फैलने का खतरा रहता है, जिससे सामुदाय के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है।
जिलाधिकारी श्री देवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने यह भी कहा कि नगर व गांव के आंतरिक गलियों एक आसपास की गंदगी, गोबर, कूड़ा करकट, मिट्टी बहकर नालियों में पहुंच जाने से नालियां अवरुद्ध हो जाती हैं, जिससे न सिर्फ आवागमन बाधित होता है अपितु कीचड़ एवं गंदगी से वेक्टर जनित रोगों के फैलने का खतरा रहा है। उन्होंने कहा कि समस्त नगर पालिका परिषद, नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी व ग्राम पंचायत हेतु जिला पंचायत राज अधिकारी व समस्त खंड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया जाता है कि जलभराव स्थलों को समाप्त किया जाए तथा नालियों एवं नालों में जल भराव को न होने दें। उन्होंने कहा कि ग्राम स्वास्थ्य एवं स्वच्छता समिति को सक्रिय करते हुए स्वच्छता की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए तथा समिति के माध्यम से फागिंग और लार्वीसाइडल छिड़काव किए जाए। उन्होंने हैंडपंपों एवं कुओं के पास अनावश्यक जल एकत्रित न होने दे। अनावश्यक जलभराव के स्थलों को समाप्त करें। नालियों एवं नालों में जल भराव को अवरोधित न होने दें। रोगों से बचाव हेतु जलभराव वाले स्थानों की सफाई एवं उसमें एंटी लारवा व मच्छर प्रतिरोधक दवा डलवाने की सुदृढ़ व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि इन निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाए।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन