यूपी में आर्थिक रुप से सशक्त हो रहा है दलित, 50 हजार दलित रोजगार से जुडे़: डा0 निर्मल

लखनऊ।


उ.प्र. अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष, डा0 लालजी प्रसाद निर्मल ने रविवार को दलित उद्यमियों के प्रांतीय सम्मेलन में कहा कि उ.प्र. का दलित आर्थिक रुप से सशक्त हो रहा है। डिक्की (दलित इंडियन चैम्बर आफ कामर्स एण्ड इन्ड्रस्टी) का एक दिवसीय अधिवेशन राजधानी के एक होटल में सम्पन्न हुआ जिसमें डा0 निर्मल बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित थे।
डा0 निर्मल ने कहा कि उ.प्र. में विगत दो वर्षो में 50 हजार हाशिए के दलित परिवारोें को रोजगार से जोड़ा गया है। डा0 निर्मल ने कहा कि उ0प्र0 से 1389 अनुसूचित बाहुल्य गाॅव को प्रधानमंत्री आदर्श गाॅव के तहत आदर्श गाॅव के रुप में विकसित किया जा रहा है। यह गाॅव सम्पर्क मार्ग, सोलर लाइट, ई सुविधा, आंगनवाडी, शुद्व पेय जल, आवास, शौचालय, पेंशन आदि योजनाओं से पूर्णतः आच्छादित होंगे। डा0 निर्मल ने कहा कि दलितों को स्वावलम्बी बनाना होगा क्योंकि विश्व के बदलते परिदृश्य में मात्र आरक्षण से दलितों का सशक्तिकरण नहीं हो सकता। डा0 निर्मल ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार ने पहली बार दलितों के लिए आर्थिक एजेन्डा लागूू किया है।
डिक्की के संस्थापक अध्यक्ष, पदमश्री कांबले ने बताया कि डिक्की के सहयोग से इस वर्ष उ0प्र0 में दलित उद्यमियों को 200 टैंकर और 56 पेट्रोल पम्प आवंटित हुए है। कांबले ने कहा कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में यूपी में 1000 दलित उद्यमियों को रोजगार से जोड़ने का डिक्की का लक्ष्य है।
इस अवसर पर उ0प्र0 सरकार के प्रमुख सचिप नवनीत सहगल, डिक्की नार्थ इण्डिया के अध्यक्ष, संजीव डांगी, सीमा कांबले सहित दलित उद्यमी उपस्थित थे।


Popular posts from this blog

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन