आयुष्मान भारत के अंतर्गत प्रतिदिन बनाए जा रहे हैं 4000 गोल्डेन कार्ड 

014 जिला स्तरीय नोडल अधिकारी किए गए नामित 
सोनभद्र।


जिलाधिकारी सोनभद्र एस राजलिंगम ने आयुष्मान भारत के पात्र लाभार्थियों के गोल्डेन कार्ड बनाने के लिए 25 नवंबर से महा अभियान चला रखा है जिसके अंतर्गत अभी तक 40447 गोल्डन कार्ड बनाए जा चुके हैं और कुल अब तक 128947 कार्ड बना है अभियान में प्रतिदिन औसत 4000 गोल्डन कार्ड बनाए जा रहे हैं जिलाधिकारी ने गोल्डेन कार्ड बनाने की गति को और तेज करने के लिए जनपद के 14 ग्राम पंचायत का चयन किया है जहाँ गोल्डन कार्ड बनाने में जिले में सबसे अधिक लाभार्थी यहां हैं इन ग्राम पंचायतों में 14 जिला स्तरीय नोडल अधिकारी नामित किए गए हैं जो ग्राम प्रधान,सचिव, आशा, आंगनवाड़ी एवं सफाई कर्मियों से समन्वय कर 10 दिन में ग्राम पंचायतों में शत-प्रतिशत गोल्डेन कार्ड बनाना सुनिश्चित करेंगे। जिलाधिकारी ने विकास खंड चतरा के ग्राम पंचायत रामगढ़ की जिम्मेदारी खंड विकास अधिकारी चतरा को विकास खंड चोपन के बागेसोती में जिला कृषि अधिकारी,ग्राम पंचायत हर्रा में उपायुक्त राष्ट्रीय आजीविका मिशन ग्राम पंचायत जुगैल में जिला विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत कचनरवा में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, ग्राम पंचायत कोटा में उपायुक्त श्रम रोजगार मनरेगा, ग्राम पंचायत पडरछ में परियोजना निदेशक डीआरडीए, ग्राम पंचायत पनारी में जिला पूर्ति अधिकारी, ग्राम पंचायत परसोइ में  खंड विकास अधिकारी चोपन इसी प्रकार विकासखंड दूधी  के ग्राम पंचायत बघाडू में खंड विकास अधिकारी दूधी, विकासखंड बभनी के ग्राम पंचायत बभनी में सहायक अभियंता लघु सिंचाई, विकास खंड म्योरपुर के ग्राम पंचायत कुलडोमरी में खण्ड विकास अधिकारी म्योरपुर, विकास खण्ड नगवा के ग्राम पंचायत सरईगांड में खण्ड विकास अधिकारी नगवा, विकास खंड रोबेर्टसजंग के ग्राम पंचायत सलखन में जिला पंचायत राज अधिकारी को जिलाधिकारी ने इस ग्राम पंचायत के लिए नोडल अधिकारी नामित किया है । 25 नवंबर तक महा अभियान में 40447 कार्ड बनाए जा चुके हैं इस अभियान को और गति देते हुए ग्राम पंचायत में जाकर समन्वय स्थापित कर गोल्डन कार्ड बनवाना सुनिश्चित करें । जिलाधिकारी ने बताया कि केवल इन 14 ग्राम पंचायतों में एक लाख 272 लाभार्थियों के कार्ड बनाए जाने हैं एवं जनपद में कुल 9लाख कार्ड बनाए जाने हैं पूरे जनपद के लगभग 20 प्रतिशत कार्ड इन ही ग्राम पंचायतों में  बनाये जाने है। इन ग्राम पंचायतों में विशेष अभियान चलाकर 10 दिन में ग्राम पंचायतों को संतृप्त किए जाने के निर्देश जिलाधिकारी सोनभद्र ने दिया और 25 नवंबर से जो महा अभियान जनपद में चलाया जा रहा है उक्त ग्रामों में वह अभियान भी चलता रहेगा।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले

’’पवन गुरू, पानी पिता, माता धरति महत’’ को अपने जीवन का अंग बनायें : स्वामी चिदानन्द सरस्वती