देश में आपातकाल से भी बुरे हालात, वामदलों का आंदोलन जारी रहेगा: येचुरी

नयी दिल्ली।


माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने संशोधित नागरिकता क़ानून और एनआरसी के विरोध में बृहस्पतिवार को वामदलों के देशव्यापी प्रदर्शन को मिले व्यापक समर्थन और देश मे आपातकाल से भी बदतर हालात होने का हवाला देते हुए कहा कि उनका आंदोलन जारी रहेगा। येचुरी ने दिल्ली में विरोध प्रदर्शन के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, “आज के प्रदर्शन को पूरे देश में व्यापक जनसमर्थन मिला है, ख़ासकर युवाओं ने इसमें बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया।” उन्होंने कहा, “सरकार ने आज दिल्ली सहित देश के तमाम इलाक़ों मे संचार सेवाएँ तक बंद कर दी, मेट्रो स्टेशन बंद किए गए और लाखों लोग गिरफ़्तार किए गए। यह बताता है कि देश में हालात आपातकाल से भी बुरे हैं। ऐसे में हमने आंदोलन को जारी रखने का फ़ैसला किया है। सभी पक्षों से विचार विमर्श कर जल्द ही आगे के आंदोलन की रणनीति को सार्वजनिक करेंगे।”


येचुरी ने कहा कि वे लोग मण्डी हाउस पर शांतिपूर्ण तरीक़े से आंदोलन कर रहे थे लेकिन पुलिस ने सभी नेताओं और प्रदर्शनकारियों को गिरफ़्तार कर लिया। इसके बाद भी युवाओं का जोश कम नहीं हुआ और वे जंतर मंतर पर पहुँच कर प्रदर्शन करने लगे।  येचुरी ने कहा कि पुलिस हिरासत से रिहा होकर वाम दलों के नेता भी जंतर मंतर पहुँच गए। दौरान भाकपा के महासचिव डी राजा ने कहा, “एनआरसी और सीएए के बारे में सरकार विपक्ष पर भ्रम फैलाने का आरोप लगा रही है, आज के आंदोलन से साबित हुआ कि विपक्ष नहीं बल्कि सत्तापक्ष इस मुद्दे पर देश को गुमराह कर रहा है। देश की जनता ने एनआरसी और सीएए को नकार दिया है। हमारा आंदोलन आगे भी जारी रहेगा।”


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन