एसपीजी की देखरेख में अभेद्य किले के रूप में तब्दील हुआ अटल घाट...


कानपुर।


उत्तरप्रदेश के कानपुर शहर में शनिवार सुबह 10.30 पर आ रहे देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा व्यवस्था के बेहद कड़े इंतजाम किए गए हैं। प्रधानमंत्री की पूरी सुरक्षा व्यवस्था एसपीजी की देखरेख में हो रही है। सुरक्षा का ऐसा घेरा बनाया गया है कि उनके साथ सेल्फी तो दूर, आसपास खड़ा होना भी बेहद मुश्किल होगा।
सुरक्षा के लिए चप्पे-चप्पे में फोर्स तैनात कर दी गई है। जनपद और बाहर से आए आला अधिकारियों ने सुरक्षा का कड़ा घेरा बना लिया है। आसमान से एयरफोर्स के चॉपर लगातार प्रधानमंत्री की पहरेदारी करेंगे। जमीन पर स्नाइपर्स से लैस स्पेशल कमांडो भी मुस्तैद रहेंगे।


जनपद के करीब 46 गांवों, मोहल्लों और अपार्टमेंट्स पर सुरक्षाकर्मियों की पैनी नजर रहेगी। देर रात से ही होटलों, ढाबों व धर्मशालाओं में चेकिंग जारी है। अटल घाट पर निरीक्षण के दौरान 15 लाइफ सेवर बोट सुरक्षा में चारों तरफ तैनात रहेंगे।
प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए 12 आईपीएस, 21 एएसपी, 83 डिप्टी एसपी, 75 थानेदार, 600 दरोगा, 3,000 कांस्टेबल, 600 ट्रैफिक पुलिसकर्मी, 13 कंपनी पीएसी, 6 कंपनी आरएएफ, 1 कंपनी एसडीआरएफ, 1 एयरोस्टैग, 4 ड्रोन कैमरे और 20 एसपीजी के घेरे में रहेंगे।


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा में किसी प्रकार की छूट न रह जाए, इसके लिए रिहर्सल कर पूरी तैयारियां कई बार चेक की गई हैं। अब बस, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आने का इंतजार है मौके पर मौजूद सुरक्षाकर्मियों को।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन