प्रशांत किशोर कौन है ? : केंद्रीय मंत्री

नयी दिल्ली।


केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने शुक्रवार को पूछा, ''प्रशांत किशोर कौन है?'' दिल्ली में विधानसभा चुनावों से कुछ दिनों पहले आम आदमी पार्टी (आप) ने चुनावी रणनीतिकार की राजनीतिक सलाह कंपनी आई-पीएसी की सेवा ली है। केंद्रीय आवास एवं शहरी विकास मंत्री ने यहां संवाददाता सम्मेलन में एक सवाल के जवाब में कहा कि वह किशोर को व्यक्तिगत रूप से नहीं जानते हैं। पुरी दिल्ली चुनावों के लिए भाजपा के प्रभारी भी हैं।


अगले वर्ष की शुरुआत में होने वाले दिल्ली विधानसभा चुनावों के लिए अरविंद केजरीवाल नीत आप द्वारा आई-पीएसी की सेवा लेने के बारे में पूछने पर उन्होंने उन्होंने कहा, ''प्रशांत किशोर कौन है?'' संवाददाताओं ने जब मंत्री को बताया कि किशोर 2014 के लोकसभा चुनावों में प्रधानमंत्रत्री नरेन्द्र मोदी के चुनाव प्रचार का हिस्सा थेतो उन्होंने कहा, ''उस समय में मैं नहीं था (पार्टी में)।''


संवाददाताओं ने जब उनसे कहा कि भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन में शामिल जनता दल (यूनाईटेड) के उपाध्यक्ष हैं तो पुरी ने कहा, ''हो सकता है मुझे जानना चाहिए लेकिन मैं उन्हें (किशोर को) नहीं जानता।'' केजरीवाल ने 14 दिसम्बर को घोषणा की थी कि आई-पीएसी अब उनकी पार्टी के साथ है। केंद्रीय मंत्री ने आप सरकार पर आरोप लगाया कि वह दिल्ली में प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) को लागू करने में बाधा डाल रही है। उन्होंने कहा कि इसका राजनीतिक रूख ''झूठ के पुलिंदा'' पर आधारित है।


तीन दिनों पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने झुग्गी झोपड़ी क्लस्टर के लिए मुख्यमंत्री आवास योजना की शुरुआत की और महानगर के झुग्गी-झोपड़ी वाले इलाकों में रहने वाले 65 हजार परिवारों के लिए मालिकाना प्रमाण पत्र जारी किए। पुरी ने कहा, ''उन्होंने (केजरीवाल) अपने दंभ और एक योजना के नाम को प्राथमिकता दी है। उन्होंने अपने अहंकार के लिए योजना की बलि चढ़ा दी। व्यक्ति (केजरीवाल) फ्लॉप है।''


उन्होंने कहा, ''अगर किसी योजना के नाम पर विकास होने जा रहा है तो आपने अपने लोगों को इससे वंचित किया है...।'' उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार ने हर परियोजना में बाधा डाला है चाहे वह मेट्रो के चौथे चरण के निर्माण में हो या रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम में हो।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले