प्रेग्नेंट नहीं होना तो अपनाएं ये तरीकें


नसबंदी उन जोड़ों के लिए सबसे अच्छा है, जिनके पहले से ही बच्चे हैं और अब वह भविष्य में बच्चा नहीं चाहते। यह अनचाही प्रेग्नेंसी से बचने का एक स्थायी तरीका है और नसबंदी के बाद महिला के गर्भवती होने के चांस नहीं होते।


लड़की की शादी होते ही हर कोई उन पर फैमिली बढ़ाने का दबाव बनाने लगता है। लेकिन जरूरी नहीं है कि हर कपल शादी के तुरंत बाद माता−पिता की जिम्मेदारियां उठाने के लिए तैयार हो। ऐसे में वह एक ऐसा रास्ता खोजना चाहते हैं, जो पूरी तरह सेफ हो। खासतौर से, महिला इस मामले में अधिक सजग होती हैं, क्योंकि अनचाहा गर्भ वास्तव में उनके लिए काफी परेशानियां लेकर आता है। तो चलिए आज हम आपको ऐसे ही कुछ उपायों के बारे में बता रहे हैं, जिनकी मदद से आप संभोग के बाद भी प्रेग्नेंट नहीं होंगी−


कंडोम
अनचाही प्रेग्नेंसी से बचने का सबसे आसान तरीका है कंडोम। कुछ समय पहले तक जहां कंडोम सिर्फ पुरुषों के लिए होते थे, वहीं अब यह महिलाओं के लिए भी मौजूद हैं। यह ना सिर्फ आपको अनचाहे गर्भ से बचाते हैं, बल्कि इसके कारण आपको किसी भी तरह का यौन संक्रमण या यौन रोग होने की संभावना कई गुना कम हो जाती है।

गर्भिनरोधक दवाएं
अधिकतर मामलों में देखा जाता है कि पुरूष हर बार संभोग के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करना पसंद नहीं करते। ऐसे में महिला के गर्भवती होने की संभावना बढ़ जाती है। अगर आप सिर्फ कुछ समय के लिए प्रेग्नेंसी को टालना चाहती हैं तो डॉक्टर की सलाह पर गर्भिनरोधक दवाओं का सेवन कर सकती हैं। इस तरह आप एक−दो साल के लिए स्वयं को गर्भवती होने से रोक सकती हैं।


नसबंदी
यह उपाय उन जोड़ों के लिए सबसे अच्छा है, जिनके पहले से ही बच्चे हैं और अब वह भविष्य में बच्चा नहीं चाहते। यह अनचाही प्रेग्नेंसी से बचने का एक स्थायी तरीका है और नसबंदी के बाद महिला के गर्भवती होने के चांस नहीं होते। शादीशुदा जोड़ों में पुरूष या महिला या फिर दोनों नसबंदी करवा सकते हैं।
 
कॉपर टी
अगर आपको ऐसा लगता है कि गर्भिनरोधक दवाओं के सेवन से आपको स्वास्थ्य समस्या हो रही हैं और आप सिर्फ एक−दो साल नहीं, बल्कि लंबे समय जैसे चार−पांच साले के लिए बच्चा नहीं चाहतीं तो कॉपर टी का इस्तेमाल करें। यह गर्भधारण को रोकने का एक प्रभावी तरीका है। इस तरीके का एक लाभ यह भी है कि आप जब भी गर्भवती होना चाहें, इसे आसानी से निकलवा सकती हैं।


इंजेक्शन
वर्तमान में, महिला के लिए गर्भधारण को रोकने के लिए इंजेक्शन भी मौजूद है। इस इंजेक्शन का काम यह होता है कि यह ओव्युलेशन को रोककर गर्भधारण की संभावना को कम करता है। जब महिला के ट्यूब में अंडा ही नहीं होता तो गर्भधारण की संभावना नहीं रहती। अगर आप गर्भधारण से बचने के लिए इस उपाय को अपना रही हैं तो ध्यान रखें कि आपको हर तीन माह में बिना भूले इस इंजेक्शन को लगवाना होगा।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले

’’पवन गुरू, पानी पिता, माता धरति महत’’ को अपने जीवन का अंग बनायें : स्वामी चिदानन्द सरस्वती