विचार रखना उचित है लेकिन हिंसा कोई समाधान नहीं : अजय देवगन


बॉलीवुड अभिनेता अजय देवगन ने कहा कि जो लोग संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं, उन्हें अपने विचार शांतिपूर्ण ढंग से रखने चाहिए। देश भर में जारी प्रदर्शनों पर राय देने वाली नामचीन हस्तियों में शामिल हुए 50 वर्षीय अभिनेता ने कहा कि लोकतंत्र में हिंसा कभी भी समाधान नहीं हो सकती।


अजय देवगन ने कहा, 'मेरा पक्ष यह है कि यह लोकतंत्र है, सरकार अपना काम कर रही है, वह एक नियम लाने की कोशिश कर रही है। लोकतंत्र का एक अधिकार है। लेकिन मैं सिर्फ इतना कहना चाहता हूं कि दोनों के अपने अधिकार हैं, हिंसा से कुछ हल नहीं होने वाला है।'


सोशल मीडिया पर कई लोगों ने इस मुद्दे पर चुप्पी साधे रखने वाले बॉलीवुड सितारों की आलोचना की थी लेकिन अभिनेता का मानना है कि हस्तियों को अपनी राय देते वक्त सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि उनके पास लोगों को प्रभावित करने की ताकत होती है।
उन्होंने कहा, समस्या यह है कि हमें बात करते वक्त बहुत सावधान रहना होता है। हम किसी को गलत तरीके से फटकार सकते हैं और हम गलत या सही दोनों तरह के लोगों को प्रभावित कर सकते हैं। जब तक हमें नहीं पता कि क्या हो रहा है हम उसके बारे में कुछ नहीं बोल सकते।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन