ग्रामीण मीडिया कार्यशाला ‘‘वार्तालाप‘‘ का एक दिवसीय आयोजन

उन्नाव 


सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार व क्षेत्रीय कार्यालय पूर्व मध्य क्षेत्र लखनऊ (पीआईबी) के सयंुक्त तत्वाधान में आयोजित ग्रामीण मीडिया कार्यशाला ‘‘वार्तालाप‘‘ का एक दिवसीय आयोजन जनपद उन्नाव के कमला भवन में आज किया गया, जिसकी अध्यक्षता करते हुये जिलाधिकारी श्री देवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने पत्रकारिता के महत्व को बताते हुये कहा कि पत्रकारिता की गरिमा और समाज में जनता के बीच सौहार्द स्थापित करना है। उन्होंने पत्रकारिता को प्राचीन काल से जोड़ते हुये कहा कि पत्रकारिता का मुख्य दायित्व है कि समाज के विभिन्न बिन्दुओं का सामन्जस्य रखना। पत्रकारिता सकारात्मक होनी चाहिये, समाज को सुदृढ़ बनाने के उद्देश्य से किसी भी व्यवस्था के चारों पायों का सन्तुलन रखना आवश्यक है। पत्रकारिता में सामाजिक सरोकारों को उठायें। उन्होंने कहा कि मुद्दों को उठाना ही सोच नहीं होनी चाहिये बल्कि मुद्दों का समाधान ढूंढना हमारा कर्तव्य होना चाहिये।
कार्यक्रम के आयोजक श्री आर पी सरोज निदेशक दूरदर्शन/एडीजी सूचना प्रसारण मंत्रालय ने कहा कि इस कार्यशाला का उद्देश्य हमारे सुदूर बैठे पत्रकार भाइयों को भारत सरकार की विभिन्न योजनाओं और सूचनाओं का समन्वय और उसका फीडबैक सरकार को देना है साथ ही भारत सरकार की 80 प्रतिशत ग्रामीण विकास की योजनाओं को जनता तक किस तरह पहुंचाया जाए, इसका प्रमुख तत्व है। इसके साथ ही उन्होंने पत्रकारों को मिलने वाली सुविधाएं और साहूलियतों की भी जानकारी पत्रकारों से साझा की। इस कार्यशाला में जिले के प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के तकरीबन 200 पत्रकारों ने भाग लेकर संवाद स्थापित किया। इस अवसर पर प्रिन्ट एवं इलेक्ट्राॅनिक मीडिया के वरिष्ठ पत्रकारों ने भी अपने विचार /समस्याओं को रखा।
इस अवसर पर नगर मजिस्ट्रेट श्री चन्दन पटेल, पीआईबी के उप निदेशक श्री श्रीकान्त श्रीवास्तव, उप निदेशक सूचना डा0 मधु ताम्बे, कार्ये्रम के नोडल श्री सुन्दरम चैरसिया दूरदर्शन के संवाददाता श्री मनीष चन्द्रा , श्री प्रवेश सिंह आदि मौजूद रहे।


Popular posts from this blog

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन