कर करेतर एवं राजस्व कार्यों की मासिक समीक्षा बैठक

 

उन्नाव 

जिलाधिकारी श्री देवेन्द्र्र कुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट स्थित पन्नालाल सभागार में कर-करेतर एवं राजस्व कार्यों की मासिक समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने राजस्व से सम्बंधित अधिकारी, तहसीलदार आदि से राजस्व वसूली, सी0आर0ए0 आफिस से राजस्व वसूली आदि की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि कार्य पूरी तरह संतोष जनक होने चाहिए, जो भी कार्य लक्ष्य के सापेक्ष अभी कम पूूूरे हुए हैं, उन्हें भी समय से पूरा करा लिया जाए। 

समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी महोदय ने राजस्व वादों (भू राजस्व अधिनियम तथा जमींदारी उन्मूलन अधिनियम निस्तारण का विवरण), राजस्व वर्ष, स्टाम्प वादों के निस्तारण का विवरण, जमींदारी अधिनियम की धारा-198 ए के अन्तर्गत की गयी कार्यवाही, कृषि भूमि का आवंटन, आवास स्थल आवंटन की प्रगति का विवरण, विभिन्न न्यायालयों में दायर वादों का निस्तारण, आवासीय भूमि का आवंटन, पोखरों के आवंटन की प्रगति, कुम्हारी कला, वृक्षारोपण, चकमार्गों/सार्वजनिक भूमि के अतिक्रमण, पोखरों, झीलों, कुओं से अवैध कब्जा हटाने, कृषि भूमि के पट्टों से अवैध कब्जेंदारो को हटाकर वास्तविक पट्टेदारों को कब्जा दिलाने, मुख्य देयकों की वसूली विविध देयकों की वसूली, खतौनी का कम्प्यूटरीकरण, तहसील दिवस (नोडल विभाग-राजस्व विभाग), कृषक दुर्घटना बीमा योजना, विवरण राजस्व अभिलेखागार आदि बिंदुओं पर समीक्षा की।

कक्षवार भौतिक सत्यापन करते हुए मनरेगा, मुख्यमंत्री जनसुनवाई, स्वयं सहायता समूह के कार्यों की प्रगति की समीक्षा की गई। मनरेगा में किसी का भुगतान लंबित न करने के निर्देश दिए। सोलर लैंप के कार्यों की समीक्षा की गई, जिसमें ज्यादा से ज्यादा लोगों को लाभान्वित करने एवं रोजगार से जोड़ने पर चर्चा की गयी।

समीक्षा बैठक के दौरान अपर जिलाधिकारी श्री राकेश सिंह, नगर मजिस्ट्रेट श्री चन्दन पटेल, उप जिलाधिकारी सहित संबंधित विभागों के अधिकारी/कर्मचारी आदि उपस्थित थे।

Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले

’’पवन गुरू, पानी पिता, माता धरति महत’’ को अपने जीवन का अंग बनायें : स्वामी चिदानन्द सरस्वती