उ0प्र0 माध्यमिक शिक्षा परिषद प्रयागराज द्वारा संचालित परिषदीय परीक्षा वर्ष 2020 को सुचारू रूप से सम्पन्न कराये जाने के दिए गये निर्देश


उन्नाव


परिषदीय परीक्षा वर्ष 2020 को नकल विहीन,शान्ति पूर्वक एवं सुचारू रूप से सम्पन्न कराये जाने के उदे्दश्य से निराला प्रेक्षाग्रह में जिलाधिकारी श्री देवेन्द्र कुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। उ0प्र0 माध्यमिक शिक्षा परिषद उ0प्र0 प्रयागराज द्वारा निर्गत केन्द्र व्यवस्थापकों को दिए गए निर्देशों का पालन करने के निर्देश दिए गए। 18 फरवरी 2020 से प्रस्तावित परीक्षा के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने उपस्थित कंेन्द्र व्यवस्थापकों एवं उनसे जुडे़ अधिकारियों को कडे़ निर्देश दिये हैं कि परिषदीय परीक्षा 2020 को नकल विहीन एवं सुचारू रूप से सम्पादित करायें। सम्पूर्ण परीक्षा को शुचिता एवं शान्तिपूर्वक सम्पादित कराना केन्द्र व्यवस्थापक का उत्तरदायित्व होगा।
जिलाधिकारी ने जोनल ,सेक्टर एवं केन्द्र व्यवस्थापकों से कहा कि सरकार की मंशा है कि किसी प्रकार से परीक्षा में अवरोध न उत्पन्न हो इसलिए आवश्यक है कि परीक्षा प्रारम्भ होने से पहले अपने-अपने क्षेत्रों के विद्यालयों का पूरी पारदर्शिता के साथ निरीक्षण कर लिया जाए। परीक्षा केन्द्र पर समस्त विषयों की परीक्षा प्रत्येक परीक्षा कक्ष में दोनो तरफ सी0सी0 टी0वी0 कैमरे एवं एक तरफ वाॅयस रिकार्डर की निगरानी, पीने के पानी की व्यवस्था, पार्किंग व्यवस्था, बाउण्ड्री वाॅल, शौचालय मंे पानी की व्यवस्था, प्रकाश की व्यवस्था एवं सुरक्षा मानकों आदि का सूक्ष्म परीक्षण करने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी श्री देवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने केन्द्र व्यवस्थापकों को कडे़ निर्देश दिए है कि यह पहले से सुनिश्चित कर लिया जाए कि जिन कक्ष निरीक्षकों, व्यवस्थापकों की ड्यूटी लगायी गयी है वे अपना परिचय पत्र गले में टांग कर रखें, परीक्षा के दौरान कोई भी सम्बंधित व्यक्ति, मीडिया ,मोबाइल या इलेक्ट्राॅनिक डिवाइस आदि परीक्षा केन्द्र के बाहर रखेंगे। उन्हांेने कहा कि मोबाइल का दुरूपयोग न हो केन्द्र व्यवस्थापक सभी का फोन परीक्षा के दौरान जमा कर लें, यदि कहीं किसी प्रकार की शिथिलता पायी जाती है तो सीधे सम्बंधित अधिकारी/कक्ष निरीक्षक जिम्मेदार माने जायेंगे।
जिलाधिकारी ने सामूहिक रूप से सम्बंधित अधिकारियों से कहा कि सभी केन्द्र व्यवस्थापकों को उनके परीक्षा केन्द्र से सम्बन्धित प्रश्न पत्रों के शील्ड कार्टन में रखे जायंे। जिन स्थानों पर प्रश्न पत्रों को रखा जाए सी0सी0 टी0वी0 कैमरा होना अनिर्वाय है। प्रश्न पत्रों को विद्यालय में लोहे की अलमारी में बन्द कर डबल लाॅक व्यवस्था सुनिश्चित की जाए । प्रश्न पत्रों की सुरक्षा हेतु व्यापक व्यवस्था रखी जाये। विद्यालय स्तर पर एक सुरक्षा समिति भी गठित की जाए । परीक्षा केन्द्रों पर कक्ष निरीक्षकों की उपलब्धता, परिचय पत्र धारण करना अनिवार्य है विषय अध्यापकों की ड्यूटी कदापि न लगायी जाये। परीक्षार्थी को पाठ्य सामग्री ले जाने की अनुमति न दी जाये। व्यापक रूप से तलाशी ली जाए। आंतरिक निरीक्षण दस्ता बनाया जाए जिससे कम से कम 03 सदस्य होना अनिवार्य है। परीक्षाओं की सम्पूर्ण तैयारी यथा फर्नीचर, सी0सी0 टी0वी0 कैमरा, विद्युत कनेक्शन, पेयजल एवं शौचालय, प्रकाश तथा सफाई आदि की व्यवस्था परीक्षा से पूर्व अनिवार्य रूप से कर लें पुलिस अधीक्षक श्री विक्रान्त वीर ने बताया कि शान्ति व्यवस्था एवं नकल विहीन परीक्षा को सम्पन्न कराये जाने हेतु संवेदन शील , अति संवेदन शील तथा सामान्य परीक्षा केन्द्रो ंमें मानक के अनुसार सुरक्षा व्यवस्था मुहैया करा दी गयी हंै इसके बावजूद भी कोई शिकायत एवं सहायता की जरूरत होगी तत्काल पुलिस टीम मुहैया करायी जायेगी। यदि किसी पुलिस कर्मी द्वारा किसी तरह का अवरेाध उत्पन्न करता है उसके विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी । सभी सम्बंधित क्षेत्रों के क्षे़त्राधिकारी, थानाध्यक्षों  आदि को निर्देश जारी कर दिये गये है कि समय समय पर परीक्षा केन्द्रों का निरीक्षण करते रहंे।
इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक श्री विनोद कुमार पाण्डेय, अपर जिलाधिकारी  श्री राकेश सिंह, उप जिलाधिकारी सदर, बंागरमऊ, हसनगंज, सफीपुर, बीघापुर, जिला विद्यालय निरीक्षक श्री राकेश कुमार, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सहित ड्यूटी में लगाये गये जोनल, सेक्टर, स्टेटिक्स मजिस्टे्ट, तथा केन्द्र व्यवस्थापक आदि उपस्थित थे ।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले