कोरोना से बचना है तो अस्थमा मरीज सांस संबंधी समस्याओं को ऐसे करें दूर


कोरोना महा संकट से पूरी दुनिया तबाही के कगार पर आ गयी है. हालांकि, इस बीमारी के लक्षण सामान्य फ्लू के तरह ही है. लेकिन, सामान्य फ्लू नहीं है, क्योंकि इससे मरीज की मौत तक हो जा रही है.


विश्व स्वास्थ्य संगठन समेत अन्य विशेषज्ञों की मानें तो इस बीमारी के दौरान मरीज को कॉमन फ्लू की तरह ही सर्दी-जुकाम और सूखी खांसी होती है, इसके अलावा सांस लेने में दिक्कत होने लगती है. सांस संबंधी यह प्रॉब्लम ही मरीज के मौत का कारण बन जाती है. ऐसे में जिन्हें शुरू से अस्थमा जैसी बीमारी है उन्हें क्या करना चाहिए.


जानें अस्थमा क्या है
दरअसल, यह एक श्वसन संबंधी बीमारी है, जिसमें मरीज को सांस लेने में तकलीफ होती है. यह तब होता है, जब श्वसन नलियों में कोई अवरोध पैदा होता. यह अवरोध कई तरह का हो सकता है जैसे कफ, एलर्जी, प्रदूषण व अन्य. कोरोना वायरस के मरीजों में यह चीज सामान्य पाया जा रहा है. बीमारी जैसे-जैसे बढ़ती जाती है सांस संबंधी परेशानियां अस्थमा का रूप लेने लगती है जो बाद में मौत तक का कारण बन जाती है.


अस्थमा को आप सही खान-पान से कम कर सकते है. जानें...
- बैलेंस्ड और हेल्दी डाइट लें


- डिब्बाबंद आहार का भूलकर भी इस्तेमाल ना करें, क्योंकि इनमें मौजूद सल्फाइट अस्थमा के अटैक को बढ़ाने वाले होते हैं.


- बीयर, शराब, चाय, जूस, सूखे मेवे और फ्रोजन चीजें, अचार और आलू से बने पैकेज फूड जैसे चिप्स आदि में सल्फाइट्स की मात्रा अधिक होती है. अत: ऐसे आहारों से दूरी बना लें.


- अस्थमा मरीज के लिए दूध और दूध से बनी चीजों का इस्तेमाल लाभकारी साबित हो सकता है. आपको बता दें कि हल्दी और अदरक मिला कर पीने से दूध में कई औषधीय गुण बढ़ जाते है. यह शरीर को कई बीमारियों से निजात दिलाता है. अस्थमा मरीज के लिए भी काफी लाभदायक है.


- सुबह और रात को सोने से पहले अदरक के साथ शहद या काली मिर्च को मिलाकर सेवन करना भी लाभदायक है.


- रात में भूल कर भी दही का सेवन न करें.


- कोई भी आहार जिसमें विटामिन बी6 पाया जाता हो, अस्थमा मरीज के लिए लाभदायक है.


- अस्थमा मरीज को अपने आहार में अंकुरित अनाज, चिकन, मछली, ब्रेड, साबुत दालें, ओटमील, ब्राउन राइस, अंडे आदि को शामिल करना चाहिए.


- आहार में विटामिन सी और ई युक्त चीजों को शामिल करें. एंटीऑक्सिडेंट्स आपकी रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले ये फूड्स आपको सर्दियों में होने वाले संक्रमण से बचाएंगे.


- इसके अलावा संतरा, नीबू, आंवला, पपीता, स्ट्रॉबेरी, लाल हरी पीली शिमला मिर्च, पालक, सरसों और बथुआ के साग आदि का इस्तेमाल करें.


- ओमेगा थ्री फैटी एसिड युक्त आहार अस्थमा मरीजों के लिए काफी लाभकारी है. इनमें आप अखरोट, सोयाबीन, अलसी और सूरजमुखी के बीज, सामन और टूना मछली आदि खा सकते हैं.


- दिन में दो-तीन बार तुलसी पत्ते, अदरक और काली मिर्च वाली चाय का सेवन भी अस्थमा मरीज को काफी लाभ पहुंचाता है.


- अस्थमा मरीजों को पानी ज्यादा मात्रा में पीना चाहिए. इससे शरीर में मौजूद टोक्सिन बाहर निकल जाता है और फेफड़े का तापमान भी संतुलित रहता है.



इसके अलावा अस्थमा मरीजों को इन बातों का ध्यान भी देना चाहिए
- अस्थमा के मरीजों को सांस लेने में दिक्कत, सीने में जकड़न और गले में खराश जैसे रोग हो जाते है जिनसे छुटकारा पाने के लिए उन्हें प्रिवेंटर इनहेलर जरूर इस्तेमाल करना चाहिए.


- कई अस्थमा मरीजों में देखा गया है कि प्रदूषण के कारण भी सांस संबंधी प्रॉब्लम आने लगती है. ऐसे में उन्हें अपने आस-पास के साफ -सफाई का विशेष ध्यान देना चाहिए. कोरोना महासंकट से लड़ने में भी सफाई और स्वच्छता ही काम आ रही है.


- ऐसा देखा गया है कि ऐसे मरीज कभी-कभी राहत पाने के लिए मुंह से सांस लेने लगते हैं. ऐसा बिल्कुल न करें, बल्कि नाक से ही सांस लें. अगर आप मुंह से सांस लेते हैं तो फेफड़ों की सूजन बढ़ सकती है.


- सांस संबंधी कुछ योग को भी प्रतिदिन करना अस्थमा मरीज के लिए लाभदायक साबित होता है


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले

’’पवन गुरू, पानी पिता, माता धरति महत’’ को अपने जीवन का अंग बनायें : स्वामी चिदानन्द सरस्वती