कोरोना: सीएम योगी का आदेश-10 से ज्यादा केस वाले जिले रहेंगे पूरी तरह लॉकडाउन


लखनऊ


सीएम योगी ने लखनऊ में समीक्षा बैठक कीहोम क्वारनटीन में रहेंगे कोटा से लौटे छात्रजिलों में जांच प्रयोगशाला बनाने के निर्देशयूपी पहुंचे श्रमिकों के लिए रोजगार के निर्देश
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को राज्य में लॉकडाउन-2 की समीक्षा की. उन्होंने कहा कि जिन जिलों में 10 या उससे अधिक कोरोना पॉजिटिव केस मिलेंगे, उन्हें पूरी तरह लॉकडाउन किया जाएगा.


मुख्यमंत्री ने अफसरों की एक बैठक में कहा कि उन सभी जिलों में कोराना जांच प्रयोगशालाएं स्थापित की जानी चाहिए, जहां अभी यह सुविधा नहीं हैं. सीएम ने अफसरों से कहा कि लॉकडाउन के नियमों, सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन कराएं.


क्वारनटीन में रहेंगे कोटा से लौटे छात्र


मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान के कोटा से वापस लौटे सभी बच्चों को होम क्वारनटीन में रखा जाए. साथ ही सीएम ने छात्रों के पूल टेस्टिंग कराने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि कोटा से बस से लाए गए सभी कोंचिंग वाले छात्र-छात्राओं को उनके घर में ही अलग-अलग रखा जाए. उन्होंने कहा कि सभी बच्चों को आरोग्य ऐप डाउनलोड करने और उसमें दिए गए निर्देशों का पालन करने के लिए कहा जाए.


बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार ने कोटा में फंसे प्रदेश के कोचिंग छात्र-छात्राओं को वहां से लाने के लिए बसें भेजी थीं. अपने प्रदेश में लाने के बाद उन्हें संबंधित जिलों में ले जाया गया.



कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें


बहरहाल, सीएम योगी ने आगे कहा कि उन क्षेत्रों में सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन करने का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए, जहां कामकाज शुरू करने की अनुमति दी गई है. पुलिस बल और मेडिकल टीम को संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए उपाय करने के निर्देश भी दिए गए.


मजदूरों के रोजगार का इंतजाम हो


सीएम ने सुरक्षा चक्र टूटने से बचाने के लिए पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए. कोविड नियंत्रण, प्रशिक्षण और संक्रमण सुरक्षा के उपाय करते हुए अस्पतालों की इमरजेंसी चलाने की बात कही. मुख्यमंत्री ने विभिन्न राज्यों से यूपी पहुंचे श्रमिकों को स्थानीय स्तर पर रोजगार की व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए.


कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...


समीक्षा बैठक में डोर स्टेप डिलीवरी में लगे लोगों की जांच कराने, मास्टर ट्रेनर से लोगों को उपचार की प्राथमिक विधि को लेकर प्रशिक्षित करने की योजना बनाने और बुंदेलखंड में पेयजल व्यवस्था सुचारू रखने को लेकर पेयजल समिति को दिए निर्देश गए.


मऊ, एटा और सुल्तानपुर में मिले कोरोना केस


अतिरिक्त मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी और मुख्य स्वास्थ्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में राज्य में कोरोना मरीजों की स्थिति के बारे में बताया. अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि उत्तर प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 1030 हो गई है, जबकि 25 हजार से ज्यादा लोगों का टेस्ट हुआ है. उन्होंने कहा कि अगर किसी जिले मे 28 दिन तक कोई केस नहीं मिला तो उसे ग्रीन जोन घोषित किया जाएगा. मऊ, एटा और सुल्तानपुर यूपी में नए जिले हैं, जहां कोरोना संक्रमण के नए केस सामने आए हैं.


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।