लॉकडाउन का सख्ती से हो पालन, तभी हम बचेंगे, देश बचेगा : सिंगर महाश्वेता


कोलकाता


बॉलीवुड के स्टार गायक शान के साथ म्यूजिक वीडियो ‘बावरी’ से सुर्खियों में आयीं कोलकाता की गायिका महाश्वेता का कहना है कि लॉकडाउन को सभी लोगों को ईमानदारी से पालन करना चाहिए, क्योंकि यदि हम लॉकडाउन तोड़ते हैं, तो केवल अपना, अपने परिवार का नहीं, वरन पूरे समाज और देश का नुकसान करते हैं. कोरोना संकट को और भी बढ़ाने में मदद करते हैं. लॉकडाउन के सख्ती से पालन से ही हम बचेंगे और तभी देश बचेगा.


एक्सिस म्युच्युल ‍फंड आइडल विजेता व स्टार जलसा सुपर सिंगर सीनियर की प्रतिभागी के रूप में सुर्खियां बटोर चुकीं महाश्वेता कहती हैं कि जीवन में ऐसा क्षण कभी भी नहीं आया था और न ही कभी कल्पना की थी, लेकिन लॉकडाउन ने कुछ अवसर भी उपलब्ध कराये हैं.


उन्‍होंने आगे कहा, कार्यक्रमों के कारण घर में रहने का समय प्राय: नहीं ही मिलता था. कहीं न कहीं कोई कार्यक्रम रहता था, लेकिन अभी घर पर हूं. संगीत का लगातार रियाज कर रही हूं. जो करना चाहती थी और नहीं कर पा रही थी, उसे कर रही हूं. मेरे चाचा, जो बहुत ही अच्छा तबला बजाते हैं. मेरे साथ ही रहते हैं. उनके साथ गाने का संगत करती हूं. मेरे पिता भी गाना गाते हैं. मेरे शुभचिंतक, जो मेरे गाने को पसंद करते हैं. उनके लिए वीडियो बना रही हूं. कवर बना रही हूं. अभी तक चार कवर फेसबुक व यूट्यूब पर पोस्ट की हूं.'


महाश्वेता ने कहा, मेरे गायक शान के साथ कई एलबम की प्लानिंग थी, लेकिन कोरोना के कारण सब अटक गया है. फिलहाल छात्रों को भी ऑनलाइन क्लास करवा रही हैं. मेरे गुरु गजल गायक उस्ताद सबीर खान से मैं ऑनलाइन ही क्लास कर रही हूं और पूरा समय संगीत व रियाज को दे रही हूं, ताकि जब लॉकडाउन समाप्त हो, उस समय अभी के समय का इस्तेमाल कर सकूं.


वह कहती हैं कि प्राय: ही मित्रों को फोन नहीं कर पाती थी, लेकिन अभी फोन कर उनका हालचाल जान रही हूं. यह नववर्ष या पूजा के अवसर पर होता था, लेकिन यह अभी ही कर रही हूं. लोग घर में बैठ बोर हो रहे हैं. उन्हें सकारात्मक बातें बता रही हूं और हां समय निकलने पर मैं खाना भी बना रही हूं. मुझे खाना बनाना अच्छा लगता है. मां को खाना बनाने में मदद कर रही हूं. उन्होंने लोगों से अपील की : यदि बहुत ज्यादा जरूरत नहीं हो, तो कृपया घर से बाहर नहीं निकलें. घर में ही रहें.


उन्होंने कहा कि यह बहुत ही दु:खपूर्ण है कि कुछ लोग लॉकडाउन नहीं मान रहे हैं. कुछ इलाकों को रेड जोन कर दिया है. बड़े बाजार बंद हो गये हैं, लेकिन अंधकार छंट जायेगा, फिर से रोशनी आयेगी और सबकुछ सामान्य हो जायेगा.


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले