जिलाधिकारी ने किया उमाशंकर दीक्षित संयुक्त चिकित्सालय का औचक निरीक्षण


उन्नाव


जिलाधिकारी श्री रवीन्द्र कुमार द्वारा आज उमाशंकर दीक्षित संयुक्त चिकित्सालय का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान सर्वप्रथम जिलाधिकारी ने पुरुष चिकित्सालय के वार्ड नंबर 01 तथा वार्ड नंबर 02 का निरीक्षण किया। वहां पर उपस्थित मरीजों से वार्ता की, उनका हाल जाना, उन्होंने मरीजों से पूछा कि यहां पर चिकित्सक राउन्ड़ लगाने आते हैं या नहीं, नियमित रूप से देख रेख होती है या नहीं दवाइयां, खाना पानी आदि नियमित रूप से मिलता है या नहीं। उन्होंने मरीजों का हाल पूछते हुये कहा कि किसी भी मरीज को किसी प्रकार की कोई समस्या तो नहीं है अगर किसी को भी कोई समस्या हो तो जरूर अवगत कराएं।  जिलाधिकारी द्वारा एन0आर0सी0 वार्ड (जहां पर कुपोषित बच्चों को रखा जाता है) का भी निरीक्षण किया गया। मौके पर एन0आर0सी0 वार्ड में जिलाधिकारी को 05 बच्चे उपस्थित मिले। उन्होंने बच्चों को मिलने वाले आहार की पूरी जानकारी ली। बच्चों व उनकी माताओं से उनका हाल पूछते हुए खाने-पीने आदि की उचित व्यवस्था को परखा। उन्होंने कहा कि समय से व भर पेट खाना पीना आदि मिलता है या नहीं, किसी प्रकार की कोई समस्या तो नही। तत्पश्चात् जिलाधिकारी द्वारा कोरोना वार्ड का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी द्वारा संबंधित को परिसर में सफाई के कड़े निर्देश दिए गए तथा कोविड. हेल्प डेस्क संतोषजनक नहीं पाए जाने पर जिलाधिकारी द्वारा उचित स्थान पर कोविड हेल्प डेस्क बनवाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी द्वारा अस्पताल में बने औषधि वितरण कक्ष का भी निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी द्वारा सम्बन्धित को निर्देशित करते हुये कहा गया कि मरीजों के लिये जो दवायें अस्पताल से लिखी जा रही हैं वे सभी दवायें यहाॅ पर अवश्य उपलब्ध होनी चाहियें। तत्पश्चात जिलाधिकारी ने महिला वार्ड का निरीक्षण किया। महिला वार्ड में जिन महिलाओं की डिलीवरी हुई थी उनको देखा गया। जिलाधिकारी द्वारा महिलाओं से उनका हाल पूछा गया तथा मुख्य चिकित्सा अधीक्षीका श्रीमती अंजू दुबे को महिला वार्ड की साफ सफाई तथा सोशल डिस्टेन्स का पालन व कोविड हेल्प डेस्क बनवाने के सख्त निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि  कोविड हेल्प डेस्क माननीय मुख्यमंत्री जी की प्राथमिकताओं में से एक है इसलिये इस कार्य को प्राथमिकता देते हुये इसका अक्षरशः पालन किया जाना चाहिए। जिलाधिकारी ने समस्त सम्बन्धितों को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुये कहा कि अस्पताल के अन्दर कोई भी व्यक्ति बिना मास्क लगाये प्रवेश नही करना चाहियें। सोशल डिस्टेन्स का पूर्ण तरीके से पालन किया जाना चहियें। उन्होंने कहा कि अस्पताल के मुख्य द्वार पर फेस मास्क, हैण्ड़ सेनीटाईजर आदि उचित मात्रा में रखवाना सुनिश्चित करे। नियमित रूप से साफ-सफाई कराया जाना सुनिश्चित करें।  जिलाधिकारी ने सम्बन्धित को अस्पताल परिसर में  एनाउन्समेण्ट के द्वारा नियमित साफ-सफाई, मास्क लगाने, सेनीटाईजर का प्रयोग व सामाजिक दूरी बनाये रखने हेतु जागरूक करने के निर्देश दिये जिससे की अस्पताल आने वाले समस्त व्यक्तियों मेें साफ-सफाई से रहने व सेनीटाइजर ,मास्क व सामाजिक दूरी बनाये रखने की प्रवत्ति हमेशा रहे सके। निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा0 वी0वी0 भट, मुख्य चिकित्सा अधीक्षीका डा0 अंजू दुबे, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 आर0के0 गौतम तथा समस्त सम्बन्धित रहे।  


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।