पंचायत, मनरेगा, पशुपालन तथा कन्या सुमंगला योजना जैसी जनकल्याण कारी योजनाओं की प्रगति को अधिक गतिशील बनाये जाने पर दिया जोर

उन्नाव


जिलाधिकारी श्री रवीन्द्र कुमार की अध्यक्षता में गरीब कल्याण रोजगार अभियान एवं विकास से जुडे अधिकारियों के साथ गूगल मीट के माध्यम से प्रधानमंत्री आवास योजना(ग्रामीण),पंचायती राज विभाग की समस्त योजनाओं, महात्मागांधी ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना, निगरानी समितियों के कार्यो एवं गोवंश आश्रय स्थल, स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण तथा कन्या सुमंगला योजना जैसी जनकल्याण कारी योजनाओं से जुड़े अन्य विभागों के कार्यो की प्रगति की ऑनलाइन समीक्षा बैठक की गई। कार्यों की प्रगति की प्रतिदिन समीक्षा करने की जिम्मेदारी परियोजना निदेशक को दी गयी जो जिलाधिकारी महोदय को वस्तुस्थित से अवगत करायेगें। 
जिलाधिकारी ने निर्देश दिये है कि विकास से जुड़ीं योजनाओं के प्रगति की समीक्षा करते हुए खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि सामुदायिक शौचालय एवं पंचायत भवन निर्माण की प्रगति के बारे में जिला पंचायत राज अधिकारी को भी निर्देश दिये कि सामुदायिक शौचालयों को ग्राम पंचायत की भूमि का चिन्हंाकन कर निर्माण कार्य पूरे जनपद में प्रत्येक दशा में  पूरे करा लिए जाएं।खण्ड विकास अधिकारी समन्वय बना कर युद्व स्तर पर लक्ष्य के सापेक्ष्य कार्य पूरा कराये। आवास फीडिंग की प्रगति को युद्ध स्तर पर पूरा किया जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि सामुदायिक शौचालय बन जाने से जहां ग्रामीण महिलाओं को सुरक्षा एवं सम्मान का अवसर मिलेगा वहीं एक व्यक्ति को रोजगार भी प्राप्त होगा। गरीब कल्याण योजना के तहत कार्य योजना में तेजी लाने पर बल दिया गया। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत ज्यादा से ज्यादा लोगों को लाभान्वित किया जाए। लाभार्थी से संपूर्ण विवरण का शपथ पत्र लेने के साथ ही ग्राम प्रधान की सहमति अवश्य ली जाए। उन्होंने समस्त खंड विकासअधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन ब्लॉकों के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा अपात्र लोगों को आवास की सुविधा दी है ऐसे कर्मचारियों से उनके वेतन से धन राशि की वसूली तत्काल प्रारम्भ की जाए। पात्र, अपूर्ण आवास एवं गलत तरीके से अपात्र लोगों के खाते में धनराशि स्थानांतरित हो जाने के कारण तथा अन्य तरीके से पात्रों को आवास की उपलब्धता पर गंभीरतापूर्वक वसूली कराए जाने के निर्देश दिए गए। 


जिलाधिकारी ने बृहद गौ संरक्षण पर चर्चा करते हुए मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ प्रमोद कुमार सिंह को निर्देशित किया कि जानवर भूखे न रहें उन्हें चारा पानी समय से मिलता रहे। गौशाला में जो भी चरही बनी हुई है उसमें जानवरों के लिए छल्ले लगवाए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि गोवंश को बांधकर रखें। जनपद में गौशाला की स्थिति बहुत अच्छी होनी चाहिए। जानवरों को किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होनी चाहिए।
 जिलाधिकारी ने ओ0डी0एफ0 के तहत पंचायत विभागके अधिकारियों के साथ जियो टैगिंग, वसूली, एम0आई0एस0 आदि की विस्तार से चर्चा की। उन्होंने विकास से जुड़े समस्त अधिकारियों से कहा कि यह सुनिश्चित कर लें कि जो भी कार्य किया जाए गुणवत्ता युक्त एवं अच्छे कार्य कराए जाएं, ताकि वरिष्ठ अधिकारियों के निरीक्षण के दौरान उन्नाव जनपद का अच्छा संदेश जाए। उन्होंने सामुदायिक शौचालय के निर्माण को गंभीरता से लेते हुए कहा कि अधिक से अधिक ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय का निर्माण करा लिया जाए। जिन ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय की आवश्यकता नहीं है खंड विकास अधिकारी निर्धारित प्रारूप में प्रमाण पत्र उपलब्ध कराएंगे। सामुदायिक शौचालय, ग्राम पंचायत भवन के निर्माण की प्रगति पर कहा कि शासन द्वारा निर्धारित मानक/मानचित्र के अनुसार निर्माण कराया जाए। जिन स्थल पर निर्माण होना है वहां की सूची उपलब्ध कराए जाने के निर्देश दिए गए।


 जिलाधिकारी ने कोविड-19 के तहत बढ़ रहे कोरोना वायरस से बचाव एवं उससे जागरूकता पर विशेष ध्यान दिए जाने पर जोर दिया। जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिए हैं कि सेनीटाइजेशन की प्रक्रिया वृहद स्तर पर कराई जाए। प्रत्येक ग्राम सभाओं, न्याय पंचायतों में मानक के अनुरूप सेनिटाइजेशन अवश्य करा लिया जाए। निगरानी समितियों को अधिक से अधिक गतिशील रखा जाए क्योंकि वर्तमान समय में कोरोना वायरस के संक्रमण की संख्या अधिक बढ़ रही है जिससे ग्रामीण और शहरी लोगों को कोरोना वायरस के बचाव के सभी उपायों से लोगों को जागरूक किया जाए। कन्या सुमंगला योजना की प्रगति के बारे में जिला प्रोबेशन अधिकारी  से चर्चा करते हुए कहा कि चिकित्सा, शिक्षा तथा अन्य विभागों से जुड़े अधिकारियों से समन्वय स्थापित करते हुये लक्ष्य को समय से पूरा किया जाये। ग्राम पंचायत भवन निर्माण,जल संरक्षण एवं संचयन कार्य, कुओं का निर्माण, पौधरोपण, बागवानी आंगनवाणी केन्द्र, ग्रामीण आवास योजना, ग्रामीण सम्पर्क मार्ग, पी0एम0 कुसुम कार्य, जल जीवन मिशन के कार्य, ठोस और तरल अपशिष्ठ प्रबन्धन कार्य, खेत तालाब, वर्मी कम्पोस्टिंग, पशुपालन, मनरेगा जैसी जनकल्याणकारी योजनाओं की प्रगति को बढ़ाए जाने पर बल दिया गया। 
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा0 राजेश कुमार प्रजापति, परियोजना निदेशक श्री जनार्दन, जिला पंचायत राज अधिकारी श्री राजेन्द्र प्रसाद, उपायुक्त मनरेगा श्री राजेश झॅा, जिला प्रोबेशन अधिकारी श्रीमती रेनू यादव सहित समस्त खण्ड विकास अधिकारी/ए0डी0ओ0 पंचायत आदि उपस्थित रहे।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले

’’पवन गुरू, पानी पिता, माता धरति महत’’ को अपने जीवन का अंग बनायें : स्वामी चिदानन्द सरस्वती