इन चीजों का करें सेवन तो गैस की समस्या से मिलेगा आराम

पेट में गैस बनना एक आम समस्या है। कभी−कभी कुछ बहुत अधिक हैवी खाने से या फिर लंबे समय तक कुछ भी ना खाने से गैस की समस्या बनने लगती है। ऐसे में अक्सर अपनी समस्या से निजात पाने के लिए लोग दवाईयों का सहारा लेते हैं। हो सकता है कि आप भी इसके लिए दवाई लेते हों। लेकिन हर छोटी−छोटी समस्या होने पर दवाई लेना अच्छा विचार नहीं है। तो आज हम आपको किचन में रखीं कुछ ऐसी चीजों के बारे में बता रहे हैं, जिसकी मदद से आप गैस की समस्या से बेहद आसानी से निजात पा सकते हैं−

ठंडे पानी का लें सहारा

एक गिलास बर्फ का ठंडा पानी लें और इसमें दो बड़े चम्मच चीनी डालकर अच्छी तरह हिलाएं। अब इसे पी लें। अगर आपको जरूरत महसूस हो तो इस प्रक्रिया को दोहराएं। इससे आपको यकीनन काफी राहत महसूस होगी। एक गिलास बर्फ का ठंडा पानी शरीर के तरल पदार्थ को स्थिर करने में मदद करता है। ऐसा माना जाता है कि ठंडा पानी गले और छाती की जलन को शांत करता है। इसलिए, एक पूरा गिलास ठंडा पानी पिएं और फिर एक छोटी सी सैर करें। एसिड आपके गले तक पहुंचने से धीरे−धीरे कम हो जाएगा।

प्रोबायोटिक्स का करें सेवन

डायटीशियन बताते हैं कि प्रोबायोटिक्स पाचन में सुधार करने और नियमित रूप से मल त्याग को प्रोत्साहित करने में मदद कर सकते हैं। प्रोबायोटिक की खुराक एक व्यक्ति के पाचन तंत्र में अच्छे बैक्टीरिया को प्रोत्साहित करती है। साथ ही प्रोबायोटिक्स वाले खाद्य पदार्थ खाने से गैस्टि्रटिस के लक्षणों में भी सुधार हो सकता है। इन खाद्य पदार्थों दही, किमची, कोम्बुचा, खट्टी गोभी आदि शामिल हैं।

मनुका शहद के साथ ग्रीन टी पिएं

एक अध्ययन से पता चला है कि सप्ताह में कम से कम एक बार ग्रीन टी पीने से पाचन तंत्र में एच पाइलोरी की व्यापकता कम हो सकती है। मनुका शहद भी फायदेमंद हो सकता है, क्योंकि इसमें जीवाणुरोधी गुण होते हैं जो संक्रमण से लड़ने में मदद करते हैं। इसलिए अगर आपको अक्सर गैस की समस्या रहती हैं तो ऐसे में मनुका शहद के साथ ग्रीन टी का सेवन करना अच्छा विचार है।

नारियल पानी जैसा कुछ नहीं

अगर आपको गैस या हार्टबर्न की समस्या हो रही है तो ऐसे में आप टेंडर ग्रीन नारियल पानी का सेवन करें। इसके सेवन से आपकी जलन व दर्द काफी हद तक कम होगा। वैसे अगर आप इसे नियमित रूप से भी पी सकते हैं। नारियल पानी फाइबर से भरपूर होता है, यही वजह है कि यह पाचन में सहायता करता है। इसके अलावा, नारियल पानी पेट की परत को ठंडा करने के लिए जाना जाता है, जो जलन को कम करता है।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले

’’पवन गुरू, पानी पिता, माता धरति महत’’ को अपने जीवन का अंग बनायें : स्वामी चिदानन्द सरस्वती